सनातन धर्म में ज्योतिष को बहुत महत्व दिया जाता है. यह मानव जीवन से जुड़ी समस्याओं का संकेत देता है. ज्योतिष के अनुसार, कुछ खास पेड़-पौधों पर कलावा बांधने से घर में सुख-समृद्धि आती है

सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है. आइए जानते हैं कि आखिर किन पेड़-पौधों पर कलावा बांधना शुभ फलदायक माना जाता है

सनातन धर्म में कुछ वृक्षों और पौधों का संबंध देवी-देवताओं से माना जाता है. पूजा-अर्चना के साथ ही इन महत्वपूर्ण पेड़-पौधों की पूजा का भी विशेष महत्व होता है. ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं

सनातन धर्म में तुलसी का पौधा पूजनीय माना जाता है. ज्योतिष के अनुसार, पूजा के समय इस पौधे पर कलावा बांधने से धन की देवी मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और व्यक्ति को जीवन में कभी धन की कमी का सामना नहीं करना पड़ता.

धार्मिक मान्यता है कि पीपल के पेड़ की विधिपूर्वक पूजा करने से व्यक्ति के सभी दुख-दर्द दूर हो जाते हैं. साथ ही सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. अगर आपके करियर में तरक्की नहीं मिल रही है तो पीपल के पेड़ की पूजा करें और कलावा बांधें.

वट सावित्री व्रत के दिन विवाहित महिलाएं इस पेड़ की पूजा कर कलावा बांधती हैं. मान्यता है कि पेड़ पर कलावा बांधने से अकाल मृत्यु के भय से मुक्ति मिलती है और पति को लंबी आयु का आशीर्वाद प्राप्त होता है.