Vastu Tips: घर में सुख-शांति के लिए वास्तु के अनुसार बनाएं ईशान कोण को मजबूत, जानिए

By charpesuraj5@gmail.com

Published on:

Follow Us

Vastu Tips: अगर आपके जीवन में एक के बाद एक परेशानी आ रही है तो आपको अपने ग्रहों की स्थिति के साथ-साथ वास्तु दिशाओं का भी ध्यान रखना चाहिए. शुभ प्रभाव बढ़ाने के लिए सबसे पहले घर के ईशान कोण का विशेष ध्यान रखना चाहिए, जिसे ईशान कोण के नाम से जाना जाता है.

यह भी पढ़े- Aaj Ka Rashifal: आज किन राशियों पर है मेहरबान ग्रहों की दृष्टि, जानिए आज का राशिफल

ईशान कोण का रखें विशेष ध्यान

ईशान कोण को कभी भी कट नहींवाना चाहिए. अगर यह भाग कटा हुआ है तो घर में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं. इस कोण के कटने से घर में कलह, परिवार के विकास में बाधा, रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने पर परिवार के सदस्यों को नाक, गला, आंखों में समस्या हो सकती है. ईशान कोण का बढ़ा हुआ होना अच्छा होता है, कटा हुआ नहीं.

ईशान कोण में रखें हल्की चीजें

ईशान कोण में भारी और ऊंची चीजें नहीं रखनी चाहिए. ईशान कोण को मंदिर के रूप में इस्तेमाल करना सबसे अच्छा होता है. ईशान कोण से ही भवन में ऊर्जा का संचार होता है.

सकारात्मक ऊर्जा का वास

आध्यात्मिकता, योग या ईश्वर प्राप्ति के लिए करते समय ईशान कोण की ओर मुख करके बैठें. पूजा के लिए सबसे उपयुक्त स्थान ईशान कोण होता है. इस दिशा में खड़े होकर सूर्य को जल अर्पित करना बहुत शुभ होता है. ईशान कोण को सबसे पहले सूर्य की रोशनी मिलती है, जिससे घर में बीमारियां कम ही आती हैं. ईशान दिशा हमें बुद्धि, ज्ञान, विवेक, धैर्य और साहस प्रदान करती है और हमें सभी तरह की परेशानियों से मुक्त रखती है, आपके घर की सारी सकारात्मक ऊर्जा यहीं निवास करती है.

ईशान कोण को बनाएं शुभ कार्यों का केंद्र

घर का स्वर्ग ईशान कोण में होता है. इस दिशा में सभी तरह के शुभ कार्य करने चाहिए ताकि शुभ कार्यों में कोई बाधा न आए. जूतें, चप्पल या कोई भी अशुद्ध वस्तु को ईशान कोण में भूल से भी ना रखें, हो सके तो इस दिशा में नंगे पैर चलना चाहिए. ईशान कोण में कभी भी सेप्टिक टैंक या शौचालय न बनवाएं. इस कोने में पानी की व्यवस्था हमेशा भूमिगत होनी चाहिए, छत पर टंकी ना बनवाएं.

ईशान कोण के वास्तु दोषों के उपाय

अगर आपके घर का ईशान कोण कटा हुआ है तो कटी हुई दीवार पर कट से बड़े आकार का शीशा लगाएं. इसके अलावा ईशान कोण में बृहस्पति यंत्र और भगवान बृहस्पति की तस्वीर जरूर लगाएं. गुरुवार के दिन गरीबों को ग्यारह ग्राम आटे के लड्डू बांटें. ईशान कोण में तांबे का ग pot भरकर रखें.