Monday, February 6, 2023
Homeप्रदेशउत्तराखंड के जोशीमठ में हुए भू-धंसाव को लेकर राज्य सरकार का बड़ा...

उत्तराखंड के जोशीमठ में हुए भू-धंसाव को लेकर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, कहा की हम

उत्तराखंड के जोशीमठ में हुए भू-धंसाव को लेकर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, कहा की हम, उत्तराखंड के जोशीमठ में हुए भू-धंसाव के कारण हजारों घरों के लाखों लोग बेघर हो गए हैं. साथ ही कई लोगों के बड़े-बड़े होटलों के गिराने की नौकत तक आ गई है, क्योंकि दीवारों में आई दरार के कारण सरकार ने जगहों को चिहिन्त कर गिराने के आदेश जारी कर दिए हैं. वहीं बात आती है कि भू-धंसाव के कारण जिन लोगों के घर या होटल उनसे ले लिए गए हैं क्या सरकार उन्हें इसका राहत पैकेज देगी? इस पर राज्य सरकार ने क्या कहा आइए जानते है-

उत्तराखंड के जोशीमठ में हुए भू-धंसाव को लेकर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, कहा की हम

यह भी पढ़े: सोने-चांदी को लेकर आई नई अपडेट, आज चांदी पहुंची इतने पर

अभी सभी इसमें बचाव के कार्यो में लगे हुए है. भू धंसाव से प्रभावित जोशीमठ में कई सारी टीमें लगी हुई हैं, जो कि यह जांच कर रही हैं कि आखिरी इसमें यह समस्या क्या हुई है. इसलिए राज्य सरकार का कहना है कि अलग-अलग जांच दलों की रिपोर्ट आ जाने के बाद ही प्रदेश सरकार केंद्र को राहत पैकेज का प्रस्ताव भेजेगी, तब तक रिपोर्ट आने का इंतजार करेगी. और उसके बाद पता चलेगा की लोगो को कितना राहत पैकेज मिलेगा.

joshimath 1673152056

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का कहना है की केंद्रीय एजेंसियों से अनुरोध किया गया है ताकि जल्द से जल्द भू धंसाव के कारण पता चल सकें. इसलिए अभी लोगों को राहत पैकेज के लिए इंतजार करना होगा. वहीं मलारी इन के मालिक, ठाकुर सिंह राणा ने बताया है कि आज मेरी मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव के साथ बैठक हुई. जिसमे इस बात पर चर्चा हुई है.

मार्केट के रेट पर मिलेगा राहत पैकेज

joshimath sinking 96799855

बद्रीनाथ के तर्ज़ पर मुआवजा नहीं मिलेगा लेकिन मार्केट रेट पर होगा. हमने बोला कि मार्केट रेट लेकिन उन्होंने कहा कि नहीं बता सकते तो हमने कहा कि हम भी नहीं उठेंगे. इसलिए अब इस परिवार के लोग अपने होटल के बाहर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. लेकिन फिर भी बद्रीनाथ के तर्ज़ पर मुआवजा नहीं दिया जायेगा.

उत्तराखंड के जोशीमठ में हुए भू-धंसाव को लेकर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, कहा की हम

यह भी पढ़े: आपकी ये आदतें कर रही आप की हड्डियों को कमजोर, आज ही बदल दे ये आदतें, वर्ना पड़ सकता है पछताना

131 परिवारों को होना पड़ा शिफ्ट

1524039 joshimath sinking

डीएम चमोली, हिमांशु खुराना ने बताया की हमारे सर्वे के बाद 723 संरचना में दरारें परिलक्षित हुई हैं और हम लगातार जनप्रतिनिधियों के टाच में हैं ताकि अगर और कही दरारें हो तो वो हमें बताए. 131 परिवार को हमने रिलीफ सेंटर में शिफ्ट कर दिया है. पिछले कुछ दिनों में कर्णप्रयाग में भी दरारें परिलक्षित हुई हैं तो उस जगह को बचाने के लिए IIT रुड़की इस पर अध्ययन कर रहे हैं, इनके अध्ययन के हिसाब से हम आगे की कार्रवाई करेंगे. और आगे क्या करना है और क्या होगा बता देंगे.

RELATED ARTICLES

Most Popular