सूर्य ग्रहण खत्म होने के पश्चात करें ये जरुरी काम, परिवार से नकारात्मक ऊर्जा का होगा नाश

0
556
solar eclipse

सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) को एक अशुभ घटना माना जाता है। इस दिन पूजा और किसी भी प्रकार के शुभ कार्य वर्जित होते हैं। कहा जाता है कि सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) के समय केवल भगवान का ही स्मरण करना चाहिए। सूर्य ग्रहण खत्म होने के पश्चात करें ये काम, परिवार से नकारात्मक ऊर्जा का होगा नाश

जानिए कब लगेंगा सूर्य ग्रहण (Know when the solar eclipse will happen)

Surya Grahan 2022 dates time

साल 2022 का यह सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) साल का आखिरी और दूसरा ग्रहण है आज 25 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है. इस बार सूर्य ग्रहण का सूतक 24 और 25 की रात 2:30 बजे से शुरू हो गया है. कुछ ऐसे काम हैं जो सूर्य ग्रहण के दौरान नहीं करने चाहिए. आपने हमेशा अपने बड़ों को यह कहते सुना होगा कि सूतक शुरू हो गया है, इसलिए यह काम न करें। सूर्य ग्रहण शाम 4:40 बजे शुरू होगा और शाम 5:24 बजे तक चलेगा। आज सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) है इसलिए 26 तारीख को गोवर्धन पूजा और 27 तारीख को यम द्वितीया मनाई जाएगी

ये भी पढ़िए एक रुपये का यूनिक नोट बदल देगा आपकी किस्मत, नोट की कीमत जानकर चकरा जाएगा सिर

सूर्य ग्रहण के समय नहीं करना चाहिए ये काम (This work should not be done during solar eclipse)

shutterstock 2 15

सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) के दौरान कुछ कार्य वर्जित होते हैं, उसी प्रकार ग्रहण के तुरंत बाद कुछ कार्य करना बहुत जरूरी है। ऐसा माना जाता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। ऐसे में सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) के अंत और उसके प्रभाव से बचने के लिए कुछ चीजें जरूर करनी चाहिए।किसी भी ग्रहण ( solar eclipse) के सूतक के समय भगवान की पूजा न करें। यहां तक ​​कि मंदिरों के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं। इसके अलावा सूतक में भगवान की मूर्ति को छूना भी मना है।

सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद करे ये काम (Do this work after the solar eclipse is over)

vleljqb surya

सूर्य ग्रहण( solar eclipse) समाप्त होने के बाद तुलसी के पौधे पर गंगाजल छिड़कें और उसे शुद्ध करें। ग्रहण की समाप्ति के बाद घर के पूजा स्थल या पूजा स्थल पर गंगाजल का छिड़काव करें। ऐसा करने से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है।

इस सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को अपना खास ख्याल रखना चाहिए। कहा जाता है कि ग्रहण के दौरान निकलने वाली नकारात्मक ऊर्जा गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ती है. ऐसे में ग्रहण के बाद स्नान करें। सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) के बाद तिल और चने की दाल का दान किया जाता है। कहा जाता है कि ऐसा करने से जीवन के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं।

सूर्य ग्रहण ( solar eclipse) की समाप्ति के बाद आपको घर को झाड़ू से भी पोंछना चाहिए। ऐसा करने से नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है।ग्रहण के बाद स्नान के साथ-साथ दान-पुण्य का भी विशेष महत्व है। इसलिए जितना हो सके दान करें।स्नान करते समय गंगाजल को जल में मिलाकर ग्रहण करने से ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव समाप्त हो जाता है। इस दिन देवी-देवताओं के दर्शन करना शुभ माना जाता है। इसलिए ग्रहण ( solar eclipse) समाप्त होने के बाद स्नान कर देवताओं के दर्शन करें।