इस दिशा में भूलकर भी न रखें सिलबट्टे को, जानें नमक से क्यों धोया जाता है सिलबट्टा

0
263
Silabatte Ke Totake

Silabatte Ke Totake: पहले के समय में सिलबट्टे का इस्तेमाल काफी किया जाता था. हालांकि आजकल साइंस ने इतनी तरक्की कर ली है कि मशीनों से ही लोग अपना हर काम मुमकिन कर रहे हैं. लेकिन इसके बावजूद घर में सिलबट्टा पाया जाता है. ऐसे में महिलाओं को पता होना चाहिए कि सिलबट्टे को किस दिशा में रखें और सिलबट्टी से जुड़े वास्तु टिप्स क्या हैं. आज का हमारा लेख इसी विषय पर है. आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि सिलबट्टे से जुड़े वास्तु टिप्स क्या हैं और इसे किस दिशा में रखना चाहिए. पढ़ते हैं 

  1. ध्यान रहे कि सिलबट्टा का काम कूटना और पीसना है. ऐसे में इसे भूल कर भी ईशान कोण यानी कि उत्तर पूर्व दिशा में ना रखें. आप इसे पश्चिम या दक्षिण दिशा में रख सकते हैं. गलत दिशा में रखने से घर में नकारात्मकता आ सकती है.
  2. अगर आप लकड़ी का सिलबट्टा इस्तेमाल कर रहे हैं तो बता दें कि सिलबट्टा नीम की लकड़ी का बना होना चाहिए. नीम के अंदर कई ऐसे गुण पाए जाते हैं जो सेहत को कई समस्याओं से दूर रख सकते हैं. ऐसे में वास्तु शास्त्र के अनुसार, नीम का सिलबट्टा इस्तेमाल करने से पॉजिटिविटी आती है और शरीर तंदुरुस्त रहता है.
  3. सिलबट्टे पर नमक जरूर पीसना चाहिए और यदि आपकी पीसे नमक का इस्तेमाल करते हैं तो एक बार सिलबट्टे को नमक के पानी से जरूर धोएं. ऐसा करने से ना केवल घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है बल्कि नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है.
  4. कभी भी टोटा सिलबट्टा अपने घर में नहीं रखना चाहिए. इससे घर में नकारात्मकता आती है.
  5. सिलबट्टे को कभी भी गंदा नहीं छोड़ना चाहिए. जब आपका काम हो जाए तो उसके बाद सिलबट्टे को धोकर रख देना चाहिए.
  6. सिल बट्टे को कभी भी लैटा कर नहीं रखना चाहिए. हमेशा उसे खड़ा हुआ रखना चाहिए और दोनों को एक साथ रखना चाहिए. यह एक पेयर है. इन दोनों को कभी भी अलग नहीं करना चाहिए.

नोट – इस लेख में दी गई जानकारी मान्यताओं और सूचनाओं पर आधारित है. बैतूल समाचार इसकी पुष्टि नहीं करता है. अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से संपर्क करें.