Shani Vakri June 2024: 30 जून को शनि देव वक्री होने जा रहे हैं, शनि देव की वक्र दृष्टि से परेशान हो सकती हैं ये 3 राशियां, जानें उपाय

By charpesuraj4@gmail.com

Published on:

Follow Us

Shani Vakri June 2024: 30 जून को शनि वक्री होने जा रहे हैं. शनि के वक्री होने का प्रभाव सभी के जीवन पर जरूर पड़ेगा. इस बार यह प्रभाव खासतौर पर तीन राशियों के लिए कठिन समय लेकर आ रहा है.

यह भी पढ़े- Aaj Ka Tarot Horoscope: आज जानिए कैसा रहेगा आपका रविवार – टैरो कार्ड्स के अनुसार

ज्योतिष में शनि का महत्व

ज्योतिष शास्त्र में शनि को न्याय का देव माना जाता है. यह सभी राशियों को उनके कर्मों के अनुसार फल देता है. जब भी शनि की चाल में बदलाव होता है तो इसका व्यापक प्रभाव सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन पर देखने को मिलता है. कलयुग में शनि का प्रभाव और भी अधिक माना जाता है. शनि की चाल जून के अंत में बदलने जा रही है जिसका बड़ा प्रभाव जुलाई की शुरुआत से देखने को मिलेगा.

शनि देव की वक्र दृष्टि से प्रभावित राशियां

पंडित नंदकिशोर मुद्गल के अनुसार शनि सबसे धीमी गति से राशि बदलता है. वर्तमान में शनि अपनी ही राशि कुंभ में विराजमान हैं. शनि 30 जून को इसी राशि में वक्री होने जा रहे हैं. शनि के वक्री होने का प्रभाव निश्चित रूप से सभी के जीवन पर पड़ेगा. यह प्रभाव शुभ और अशुभ दोनों ही प्रकार का हो सकता है. इस बार यह प्रभाव खासतौर पर तीन राशियों के लिए कठिन समय लेकर आ रहा है.

इन राशियों को रहना होगा सावधान

  • मेष राशि: शनि के वक्री होते ही मेष राशि वालों का समय बदल जाएगा. जीवन में परेशानियां बढ़ सकती हैं. थोड़ी सी बात पर झगड़े शुरू हो सकते हैं. मानसिक तनाव भी बढ़ेगा. किसी भी कार्य को पूरा करने के लिए कठिन परिश्रम करना पड़ सकता है. शत्रु आप पर अपना दबदबा बनाने की कोशिश करेंगे. आपको कई क्षेत्रों में आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ सकता है. आप को समय-समय पर यात्रा भी करनी पड़ सकती है. ये यात्राएं खर्चीली हो सकती हैं.
  • तुला राशि: शनि के वक्री होने पर तुला राशि वालों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. जीवनसाथी के साथ मतभेद हो सकते हैं. अनावश्यक खर्चों के कारण मन परेशान रहेगा. स्वास्थ्य भी खराब रह सकता है. अस्पताल जाना पड़ सकता है. व्यापार में आर्थिक नुक़सान हो सकता है. किसी पर आंख मूंदकर भरोसा न करें. बढ़ते आलस्य के कारण कोई भी कार्य समय पर पूरा नहीं हो पाएगा. विद्यार्थियों को पढ़ाई में मन नहीं लगेगा.
  • कुंभ राशि: शनि का वक्री होना इस राशि के जातकों के लिए भी शुभ नहीं है. कोर्ट कचहरी के मामलों में फैसला आपके पक्ष में नहीं आएगा. किसी भी विवाद में न फंसे वरना फंस सकते हैं. मानसिक तनाव भी हो सकता है. गाड़ी चलाते समय सावधानी बरतें चोट लगने की संभावना है. अनावश्यक विवादों से बचें. जब तक शनि वक्री हैं तब तक कोई नया कार्य शुरू न करें. आर्थिक परेशानी भी आ सकती है.

यह भी पढ़े- Vastu Tips: घर में कछुआ रखे या ना रखे, वास्तु के अनुसार कछुआ रखने के क्या है नियम, जानिए

शनि के प्रकोप से बचने के उपाय

शनि के वक्री होने के दुष्प्रभावों से बचने के लिए हर शनिवार को शनि मंदिर जाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं. शनि देव को सरसों के तेल से स्नान कराएं. शनि चालीसा का पाठ करें. इसके अलावा बजरंगबली की पूजा करें. शनिवार के दिन सुंदरकांड का पाठ करें. साथ ही रोज हनुमान चालीसा का पाठ करें. ऐसा करने से शनि के नकारात्मक प्रभाव में काफी कमी आएगी.