शनि ढैय्या से कब मिलेगी मुक्ति, कर्क और वृश्चिक राशि वालों के लिए जरूरी जानकारी, जानिए 

By charpesuraj5@gmail.com

Published on:

Follow Us

ज्योतिष शास्त्र में शनिदेव को न्याय का देवता माना जाता है. इनकी चाल सबसे धीमी होती है और ये लगभग ढाई साल तक किसी राशि में विराजमान रहते हैं. वर्तमान में शनिदेव कुंभ राशि में विराजमान हैं, जिस वजह से कर्क और वृश्चिक राशि वालों पर शनि की ढैय्या चल रही है. आइए विस्तार से जानते हैं शनि की ढैय्या और कब मिलेगी इन राशियों को इससे मुक्ति:

यह भी पढ़े- Grah Gochar: शनि गृह कुछ ही दिनों में बदलने वाले है चाल, इन राशियों की चमकेगी किस्मत

शनि की ढैय्या क्या है? (What is Saturn’s Dhaiya?)

शनि की ढैय्या ज्योतिष में एक महत्वपूर्ण अवधारणा है. जब शनि किसी राशि से चौथे और आठवें स्थान पर गोचर करता है, तो उसे ढैय्या कहते हैं. ढैय्या की अवधि ढाई साल होती है. ज्योतिष के अनुसार, हर किसी को जीवन में एक बार शनि की महादशा का सामना करना पड़ता है, जिसमें ढैय्या भी शामिल है.

कब मिलेगी कर्क और वृश्चिक राशि वालों को शनि की ढैय्या से मुक्ति? (When Will Cancer and Scorpio Get Relief from Saturn’s Dhaiya?)

जैसा कि बताया गया है, शनिदेव धीमी गति से चलने वाला ग्रह है. ये करीब ढाई साल किसी एक राशि में रहता है. इस वजह से शनि को पूरे राशि चक्र को पूरा करने में लगभग 30 साल लग जाते हैं. शनि ने 17 जनवरी 2023 को मकर राशि को छोड़कर कुंभ राशि में प्रवेश किया था. तब से ये वहीं विराजमान हैं. शनि को कुंभ राशि से निकलकर मीन राशि में गोचर करने में अभी कुछ समय बाकी है, ये गोचर 29 मार्च 2025 को होगा.

इसका मतलब है कि कर्क और वृश्चिक राशि वालों को शनि की ढैय्या से मुक्ति मार्च 2025 के बाद ही मिल पाएगी. शनि के मीन राशि में गोचर करने के बाद सिंह और धनु राशि वालों पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी.

ज्योतिषीय टिप्स शनि की ढैय्या के प्रभाव को कम करने के लिए (Astrological Tips to Reduce the Impact of Saturn’s Dhaiya)

  • शनिवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ करें.
  • शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शमी के पेड़ की पूजा करें और सरसों का तेल चढ़ाएं.
  • हर दिन गरीबों और जरूरतमंदों को दान करें.
  • सत्य का पालन करें और गलत कार्यों से दूर रहें.

ध्यान दें: उपरोक्त जानकारी सामान्य ज्योतिषीय भविष्यवाणियों पर आधारित है. किसी भी निर्णय लेने से पहले ज्योतिषी से सलाह जरूर लें.