Tulsi Puja Mahatv: सनातन धर्म में तुलसी पूजा का होता है विशेष महत्व, जानिए तुलसी पूजा के कुछ जरूरी नियम

By charpesuraj5@gmail.com

Published on:

Follow Us

Tulsi Puja Mahatv: सनातन धर्म में तुलसी पूजा का बहुत महत्व माना जाता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार घर में तुलसी का पौधा लगाना शुभ होता है. इससे घर में मां लक्ष्मी का वास होता है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार बना रहता है. लेकिन तुलसी पूजा करते समय कुछ नियमों का पालन करना भी जरूरी होता है, खासकर महिलाओं के लिए.

यह भी पढ़े- Kumbh Rashifal 2025: कैसा बीतेंगा कुम्भ राशि वाले जातको का साल 2025, जानिए

महिलाओं और तुलसी पूजा (Mahila aur Tulsi Puja)

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को अशुद्ध माना जाता है. इसलिए इस दौरान तुलसी पूजा नहीं करनी चाहिए. ऐसी मान्यता है कि इन महिलाओं द्वारा की गई तुलसी पूजा से मां तुलसी भी अशुद्ध हो जाती हैं.

इसके अलावा, जिन महिलाओं के मन में गलत विचार होते हैं, उन्हें भी तुलसी पूजा करने से बचना चाहिए. माना जाता है कि ऐसी महिलाओं की पूजा मां लक्ष्मी ग्रहण नहीं करतीं.

तुलसी पूजा के कुछ जरूरी नियम (Tulsi Puja ke Kuchh Jaruri Niyam)

  • तुलसी पूजा के समय साफ-सुथरे रहना जरूरी होता है. पूजा स्थल और आसपास की जगह को साफ रखें.
  • तुलसी के पौधे को गंदे हाथों से ना छुएं.
  • तुलसी के पास झूठे बर्तन, जूठी चीजें और गंदे कपड़े ना रखें.
  • एकादशी के दिन तुलसी को जल ना दें और ना ही पत्तियां तोड़ें. ग्रंथों के अनुसार, एकादशी पर मां लक्ष्मी व्रत रखती हैं. ऐसे में तुलसी को जल देने और पौधे को छूने से उनका व्रत भंग हो जाता है, जिससे मां लक्ष्मी नाराज हो सकती हैं.

तुलसी पूजा के फायदे (Tulsi Puja ke Fayde)

  • तुलसी पूजा करने से घर में हमेशा सुख-समृद्धि बनी रहती है.
  • भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है.
  • घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, जिससे मन को शांति मिलती है.
  • तुलसी की पत्तियों में औषधीय गुण होते हैं, जो वातावरण को शुद्ध रखने में मदद करती हैं.

उपसंहार (Up-Sanskar)

तुलसी का पौधा सिर्फ धार्मिक आस्था का ही प्रतीक नहीं है, बल्कि वातावरण को शुद्ध रखने में भी तुलसी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. तुलसी की नियमित पूजा करने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और घर में सुख-शांति बनी रहती है.