सफल जीवन के लिए नीम करोली बाबा के 5 अनमोल उपाय, जानिए

By charpesuraj4@gmail.com

Published on:

Follow Us

नीम करोली बाबा मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के परम भक्त हनुमान जी के उपासक थे. बचपन से ही हनुमान जी उनके गुरु थे. उन्हीं की कृपा से बाबा को कम उम्र में ही हर तरह का ज्ञान प्राप्त हो गया था. अपने जीवनकाल में नीम करोली बाबा ने देश के प्रमुख धार्मिक स्थलों की यात्रा की थी. नीम करोली बाबा के विचार आज भी प्रासंगिक हैं. उनके बताए रास्तों पर चलकर मनुष्य ईश्वर प्राप्ति कर सकता है. उनकी गिनती दिव्य पुरुषों में होती है (नीम करोली बाबा का इतिहास). उस समय उन्हें कई नामों से जाना जाता था. कोई उन्हें चमत्कारी बाबा मानता था, तो कोई हनुमान जी का अवतार मानता था.

यह भी पढ़े- Personality Tips: उंगली चाटने की है आदत, तो जान ले यह जरूरी बात, नहीं तो हो सकती है बड़ी दिक्कत, जानिए

नीम करोली बाबा का जन्म उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले के एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था. वर्तमान में उनका धाम (नीम करोली बाबा धाम) नैनीताल से 07 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. उनकी पुण्यतिथि हर साल 15 जून को मनाई जाती है. स्टीव जॉब्स से लेकर मार्क जुकरबर्ग तक सभी ने बाबा की समाधि स्थल यानी नीम करोली बाबा मंदिर की धार्मिक यात्रा की है.

नीम करोली बाबा ने जीवन में सफल होने के कई खास उपाय बताए हैं. जिन्हें करने से व्यक्ति जीवन में ऊंचा स्थान प्राप्त कर सकता है. अगर आप भी अपने जीवन में धनवान बनना चाहते हैं, तो हर सुबह उठने के बाद ये 5 उपाय जरूर करें.

धनवान बनने के 5 उपाय

1. ब्रह्म मुहूर्त में उठें

सनातन धर्म में ब्रह्म मुहूर्त में जागने का विधान है. नीम करोली बाबा भी हर व्यक्ति को ब्रह्म मुहूर्त में उठने की सलाह देते थे. बाबा के अनुसार हर दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठने से व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है. साथ ही ब्रह्म मुहूर्त में पूजा-पाठ और मंत्र जाप करने से ईश्वर की विशेष कृपा व्यक्ति पर पड़ती है.

2. सूर्योदय से पहले हथेलियों को देखें

जो व्यक्ति हर सुबह उठते समय अपनी हथेलियों को देखता है, उस पर धन की देवी माँ लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है. इसके लिए आप हर सुबह उठते ही सबसे पहले अपने दोनों हाथों की हथेलियों को देखें. इस समय निम्न मंत्र का जाप करें:

कराग्रे वासेते लक्ष्मी: कर्म मध्ये सरस्वती।

कर्मूले तु गोविन्द: प्रभाते दर्शनं॥

3. मौन रहना सीखें

नीम करोली बाबा के अनुसार मौन रहने की कला सीखनी चाहिए. मौन रहने से ऊर्जा का नाश नहीं होता है. बल्कि आंतरिक मन में ऊर्जा का संचय होता है. इससे व्यक्ति जीवन में परिपक्व बनता है. साथ ही विवेकशील और बुद्धिमान बनता है.

4. भगवान की पूजा करें

ईश्वर की आराधना करने से भक्त को मनचाहा फल प्राप्त होता है. इसलिए सुबह उठकर दैनिक कार्यों से निवृत्त होकर गंगाजल मिश्रित जल से स्नान करें. इसके बाद विधि-विधान से जगत के पालनहार भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी की पूजा करें.

5. गाय को भोजन दें

नीम करोली बाबा हर दिन भोजन करने से पहले गाय माता को पहला निवाला देने की सलाह देते थे. गाय माता में सभी देवी-देवताओं का वास होता है. गाय माता को भोजन देने से व्यक्ति पर देवी-देवताओं का आशीर्वाद बना रहता है.