Hearing Loss: दुनिया भर में 1 अरब से अधिक लोग खो सकते है सुनने की क्षमता

0
29
Hearing Loss: दुनिया भर में 1 अरब से अधिक लोग खो सकते है सुनने की क्षमता

Risk of Hearing Loss (बहरापन का जोखिम) : Global Health General की रिसर्च में सामने आया दुनिया भर में 1 अरब से अधिक लोग खो सकते है सुनने की शक्ति। रिसर्च टीम ने पाया की 12-34 साल के लगभग 24 % लोग तेज संगीत सुनते है। पहले की गई स्टडी के विश्लेषण से यह भी पता चला है 23% वयस्क और 27% नाबालिक नियमित रूप से बहुत अधिक शोर के संपर्क में आते है, जो कानों पर बुरा असर डालते हैं। इसीलिए Hearing Loss के बारे में जागरूक होना बहुत आवश्यक है।

Hearing Loss: दुनिया भर में 1 अरब से अधिक लोग खो सकते है सुनने की क्षमता

Hearing Loss: दुनिया भर में 1 अरब से अधिक लोग खो सकते है सुनने की क्षमता

ईयरबड्स, इयरफोन (ear buds and ear phones) ऐसी चीज़ है जिसके बिना लोग घर से बाहर नहीं निकलते। Noise Canceling Earpods से लेकर फैंसी हेडफोन तक, आजकल के युवाओं के पास ये सब आपको मिल जाएंगे। चाहे वो घर पर हों या बाहर हो। वो कान में हमेशा उसे प्लग इन करके ही रखते हैं। लेकिन हर वक्त कानों में रहने वाले ईयरफोन और बड्स आपकी कानों पर बुरा असर डाल सकते हैं।

यह भी पढ़े :- फिटकरी का एक छोटा सा टुकड़ा आपको कई समस्याओं से छुटकारा दिला सकता है Alum Benefits

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, दुनिया भर में लगभग 430 मिलियन यानि 43 करोड़ से अधिक लोग बहरेपन की समस्या का सामना कर रहे हैं और हाल ही में हुई एक स्टडी में सामने आया है कि स्मार्टफोन, हेडफ़ोन और ईयरबड्स जैसे पर्सनल म्यूज़िक गैजेट्स इस्तेमाल करने वाले 1 अरब से अधिक लोग अपने सुनने की शक्ति खो सकते हैं। इस स्टडी के निष्कर्ष को BMJ ग्लोबल हेल्थ जर्नल (Global Health General) में छापा गया था।

यह भी पढ़े :- हलके में न ले दालचीनी को, रोज सेवन से चमत्कारी फायदे होंगे Daalchini or Cinnamon

Hearing Loss: दुनिया भर में 1 अरब से अधिक लोग खो सकते है सुनने की क्षमता

सुनने की सुरक्षित आदतों

पहले की गई स्टडीज़ के उनके विश्लेषण से ये भी पता चला है कि 23% व्यस्क और 27% नाबालिग नियमित रूप से बहुत अधिक शोर के संपर्क में आते हैं। इसीलिए, हियरिंग लॉस को लेकर जागरुक करने और इसके रोकने के लिए रिसर्चर्स ने दुनियाभर में सुनने की सुरक्षित आदतों के लिए पॉलिसी को लागू करने का आग्रह किया है। नहीं तो बहरापन का जोखिम पूरी दुनिया में विकट समस्या का रूप ले लेगा।