प्याज की ये टॉप किस्मे देंगी अधिक पैदावार, प्रति हेक्टेयर होगा 500 क्विंटल तक का उत्पादन, जाने इन किस्मो के बारे में

By Jitendra kumar

Published on:

Follow Us
प्याज की ये टॉप किस्मे देंगी अधिक पैदावार, प्रति हेक्टेयर होगा 500 क्विंटल तक का उत्पादन, जाने इन किस्मो के बारे में

प्याज की ये टॉप किस्मे देंगी अधिक पैदावार, प्रति हेक्टेयर होगा 500 क्विंटल तक का उत्पादन, जाने इन किस्मो के बारे में, प्याज लगभग हर सब्जी में डाला जाता है. भारत में किसान बड़े पैमाने पर इसकी खेती करते है. किसान खरीफ और रबी, दोनों सीजन में इसकी खेती करते हैं. अगर बुवाई के समय ही सही किस्मों का चयन कर लिया जाए तो किसान प्याज की खेती से बढ़िया मुनाफा कमा सकते हैं. बाजार में वैसे तो कई किस्में मौजूद हैं, लेकिन हम आपको 5 सबसे उन्नत किस्मों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे बंपर उत्पादन होता है. आइये जानते है.

यह भी पढ़े :- चीते जैसी रफ़्तार के साथ Tata Sumo मार्केट में मचा देंगी तहलका, चार्मिंग लुक में झमाझम फीचर्स से सड़को पर जलवा दिखायेंगा छोटा हाथी।

image 123

प्याज की कुछ उन्नत किस्मो के बारे में

पूसा रेड प्याज किस्म

इस किस्म के प्याज का रंग लाल होता है. एक हेक्टेयर में कम से कम 200 से 300 क्विंटल तक की पैदावार. भंडारण के किसी विशेष स्थान की जरूरत नहीं पड़ती, कहीं भी रख लीजिए. एक प्याज 70 से 80 ग्राम तक का होता है.है. फसल 120-125 दिनों में तैयार हो जाती है.

पूसा रतनार प्याज किस्म

इस किस्म की प्याज का आकार थोड़ा चपटा और गोल होता है. गहरे लाल रंग वाली इस किस्म से किसान प्रति हेक्टेयर 400 से 500 क्विंटल तक प्याज प्राप्त कर सकते हैं. फसल 125 दिनों में तैयार हो जाती है।

image 125

यह भी पढ़े :- Ertiga की गर्मी निकाल देंगा Totoya Rumion का लक्ज़री लुक, 26 के शानदार माइलेज के साथ मिलेंगे टनाटन फीचर्स

हिसार- 2 प्याज किस्म

इस किस्म का प्याज गहरे लाल और भूरे रंग का भी होता है. रोपाई के 175 दिनों बाद फसल पक जाती है. इसकी सबसे खास बात यह होती है कि इसका स्वाद तीखा नहीं होता. यह प्रति हेक्टेयर 300 क्विंटल तक पैदावार दे देती है.

पूसा व्हाईट फ्लैट प्याज किस्म

बाजार हम कभी-कभी सफेद रंग के प्याज भी देखते हैं, वह यही किस्म है. रोपाई के 125 से 130 दिन बाद में तैयार होने वाली किस्म है. भंडारण क्षमता अच्छी होती है. प्रति हेक्टेयर 325 से 350 क्विंटल तक पैदावार हो सकती है.

image 126

अर्ली ग्रेनो प्याज किस्म

इस किस्म के प्याज का रंग हल्का पीला होता है. इसे सलाद में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है. रोपाई के 115-120 दिनों बाद फसल पक जाती है. प्रति हेक्टेयर 500 क्विंटल तक पैदावार होती है

Jitendra kumar

दुनिया में हो रही हलचल को सत्यता और सटीकता से आप तक पहुंचाना, जनता की आवाज को बुलंद बनाना ही पत्रकार का धर्म है. एक सच्चे पत्रकार को अपने धर्म की रक्षा करनी चाहिए। चूँकि धर्म की जो रक्षा करता है. धर्म उसकी रक्षा करता है. (मैं 2 वर्षो से डिजिटल मीडिया में कार्यरत हूँ। मुझे ऑटोमोबाइल, टेक्नोलॉजी और किसान समाचार में विशेष रूचि है)