PM Kisan Samman Nidhi Yojana :-योजना को लेकर सरकार की कुछ खास नियम और शर्तें,इन किसानों से की जाएगी वसूली

0
339
PM Kisan Yojna

PM Kisan Samman Nidhi Yojana :- पीएम किसान योजना को लेकर सरकार ने काफी सख्ती दिखाई है. सरकार ने इस योजना के तहत जमीन की जांच के आदेश दिए हैं। गौरतलब है कि देश के 10 करोड़ से अधिक किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पंजीकृत हैं।

PM Kisan Samman Nidhi Yojana :- योजना को लेकर सरकार की कुछ खास नियम और शर्तें,इन किसानों से की जाएगी वसूली

किसानों के लिए केंद्र सरकार सीधे उनके खाते में सालाना 6 हजार रुपये भेजती For the farmers, the central government directly sends 6 thousand rupees annually to their account.

किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए केंद्र सरकार सीधे उनके खाते में 2 हजार रुपये की 3 किस्तें यानी सालाना 6 हजार रुपये भेजती है। लेकिन कुछ लोग गलत तरीके से इस योजना का लाभ ले रहे हैं, जिसके चलते सरकार ने योजना में पंजीकृत किसानों के दस्तावेजों की जांच शुरू कर दी है।

पीएम किसान योजना के लाभार्थी किसानों का रिकॉर्ड चेक करने का आदेश Order to check records of beneficiary farmers of PM Kisan Yojana

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार ने पीएम किसान योजना के लाभार्थी किसानों का रिकॉर्ड चेक करने का आदेश दिया है। यानी अब यहां के लाभार्थी किसानों के कागज और जमीन की जांच की जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने कृषि विभाग के अधिकारियों को योजना के लिए आवेदन करने वाले सभी किसानों के भूमि रिकॉर्ड का नक्शा बनाने का आदेश दिया है। इससे पता चलेगा कि इस योजना का लाभ पाने वाले किसान पात्र हैं या नहीं। जिला राजस्व एवं कृषि विभाग ने प्रयागराज में ही 6.96 लाख किसानों के भू-अभिलेखों की जांच का काम शुरू कर दिया है.

फर्जी दस्तावेजों के आधार पर आवेदन किया applied on the basis of forged documents

अभी तक की जांच से मिली जानकारी के अनुसार प्रयागराज जिले में कई आवेदनों में खामियां पाई गईं, जिनमें लोगों ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर आवेदन किया था। अधिकारियों ने कहा कि ऐसे आवेदनों को खारिज कर दिया गया है। और इस फर्जीवाड़े को और रोकने के लिए पूरे उत्तर प्रदेश में सभी किसानों के दस्तावेजों का सत्यापन शुरू कर दिया गया है।

प्रयागराज में कुल 6.96 लाख लोगों ने योजना के लिए कराया पंजीकरण A total of 6.96 lakh people registered for the scheme in Prayagraj

कृषि विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि प्रयागराज में कुल 6.96 लाख लोगों ने योजना के लिए पंजीकरण कराया था और इस प्रकार उनकी पंजीकृत भूमि अब जांच के दायरे में है. इस जांच से यह स्पष्ट हो जाएगा कि कौन से किसान इस योजना का लाभ लेने के पात्र हैं।

योजना का गलत तरीके से लाभ उठाते पाए जाने पर किसानों से होगी वसूली If found wrongly taking advantage of the scheme, there will be recovery from the farmers

इस जांच में सरकार उन किसानों के खिलाफ कार्रवाई करेगी जो इस योजना का गलत तरीके से लाभ उठाते पाए जाएंगे. यहां तक ​​कि अब तक की सभी किश्तें भी उनसे वसूल की जाएंगी। दरअसल, हर व्यक्ति जिसके पास कृषि योग्य जमीन है, वह प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं ले सकता है।

सरकार ने कुछ खास नियम और शर्तें बनाई The government made some special terms and conditions

इसके लिए सरकार ने कुछ खास नियम और शर्तें बनाई हैं। सीबीडीटी की नई अधिसूचना के अनुसार, इलेक्ट्रॉनिक रूप से रिटर्न प्रस्तुत करने की तारीख अब वही मानी जाएगी, जब इलेक्ट्रॉनिक रूप से डेटा के प्रसारण की तारीख से 30 दिनों के भीतर फॉर्म आईटीआर-वी जमा किया जाता है।