Sunday, February 5, 2023
Homeखेल / क्रिकेटपरमानेंट ओपनर बनेगा भारत का ये घातक बल्लेबाज खौंफ इतना कि गेंद...

परमानेंट ओपनर बनेगा भारत का ये घातक बल्लेबाज खौंफ इतना कि गेंद डालने से पहले ही थर्राते है गेंदबाज

परमानेंट ओपनर बनेगा भारत का ये घातक बल्लेबाज खौंफ इतना कि गेंद डालने से पहले ही थर्राते है गेंदबाज। टीम इंडिया में बतौर टी20 बल्लेबाज रोहित शर्मा की जगह अब खतरे में है। ये घातक बल्लेबाज बन सकता रोहित शर्मा की जगह भारत का परमानेंट टी20 ओपनर।

टीम इंडिया को अब रोहित शर्मा और विराट कोहली से आगे बढ़ना है

बीसीसीआई अधिकारी के इस बयान के बाद अब रोहित शर्मा के टी20 करियर पर तलवार लटक रही है। ऐसे में एक खतरनाक बल्लेबाज ऐसा है, जो रोहित शर्मा की जगह भारत का परमानेंट टी20 ओपनर बन सकता है। इनसाइड स्पोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा है कि हमें भारतीय क्रिकेट को ध्यान में रखते हुए बड़ा फैसला लेना है और टीम इंडिया को अब रोहित शर्मा और विराट कोहली से आगे बढ़ना है। हमें भविष्य को देखते हुए टीम बनानी है।

परमानेंट ओपनर बनेगा भारत का ये घातक बल्लेबाज खौंफ इतना कि गेंद डालने से पहले ही थर्राते है गेंदबाज

image 156

यह भी पढ़े :- खूबसूरती से इंटनेट पर तहलका मचाती हैं सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा यहाँ देखे सबसे ग्लैमरस फोटो

ये खिलाड़ी बनेगा भारत का परमानेंट ओपनर

रोहित शर्मा के पास बतौर कप्तान खुद को साबित करने के लिए अब बहुत कम समय बच गया है। 2023 वनडे वर्ल्ड कप के बाद रोहित शर्मा की उम्र 36-37 साल की हो जाएगी, ऐसे में इस टूर्नामेंट के बाद उनकी छुट्टी हो सकती है। टीम इंडिया को अब ऐसे ओपनर की जरूरत है, जो 10 से 15 साल तक टी20 क्रिकेट खेल पाए। ऐसे में विस्फोटक बल्लेबाज पृथ्वी शॉ भारत के परमानेंट टी20 ओपनर बन सकते हैं।

पृथ्वी शॉ ने सुनील गावस्कर और चेतेश्वर पुजारा को भी छोड़ा पीछे

पृथ्वी शॉ ने सुनील गावस्कर और चेतेश्वर पुजारा को भी छोड़ा पीछे पृथ्वी शॉ ने आज ही रणजी ट्रॉफी मैच में इतिहास रचते हुए तिहरा शतक ठोक दिया है। पृथ्वी शॉ ने बुधवार 11 जनवरी को असम के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच में तिहरा शतक ठोकते हुए 383 गेंदों पर 379 रनों की पारी खेली है। पृथ्वी शॉ ने इस मामले में महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर और चेतेश्वर पुजारा को भी पीछे छोड़ दिया है। सुनील गावस्कर का रणजी ट्रॉफी में बेस्ट स्कोर 340 रन है। वहीं, साल 2012 में कर्नाटक के खिलाफ चेतेश्वर पुजारा ने 352 रन बनाए थे।

परमानेंट ओपनर बनेगा भारत का ये घातक बल्लेबाज खौंफ इतना कि गेंद डालने से पहले ही थर्राते है गेंदबाज

image 158

गेंद डालने से पहले ही थर्राते है गेंदबाज

भारतीय टीम मैनेजमेंट वेस्टइंडीज और अमेरिका की धरती पर साल 2024 में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के लिए अभी से ही युवा खिलाड़ियों से सजी टीम इंडिया को तैयार कर रही है। पृथ्वी शॉ जल्द ही भारत के परमानेंट टी20 ओपनर बन सकते हैं और रोहित शर्मा का टी20 टीम से पत्ता काट सकते हैं। मुंबई के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने रणजी ट्रॉफी इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर बना दिया है।

रणजी ट्रॉफी में रोहित-विराट भी नहीं कर पाए ऐसा कमाल

मुंबई की तरफ से पृथ्वी शॉ ने पहले दिन धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए दोहरा शतक लगाया। इसके बाद दूसरे दिन भी उन्होंने अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी जारी रखी और तूफानी तिहरा शतक जड़ दिया। उन्होंने मैदान के हर तरफ स्ट्रोक लगाए. उनकी बैटिंग देखकर विरोधी गेंदबाजों ने दांतों तले अंगुलियां दबा लीं। उन्होंने 383 गेंदों पर 379 रन बनाए, जिसमें 49 चौके और 4 छक्के शामिल हैं. लेकिन वह 400 रन पूरा करने से चूक गए।

रणजी ट्रॉफी का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर

मुंबई के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने रणजी ट्रॉफी इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर बना दिया है। इससे पहले महाराष्ट्र की ओर से भाऊसाहेब निंबलकर ने काठियावाड़ के विरुद्ध खेलते हुए दिसंबर 1948 में 443 रन बनाए थे, अब भी रणजी ट्रॉफी में सर्वाधिक निजी स्कोर और सर्वाधिक प्रथम श्रेणी स्कोर बनाने वाले भारतीय खिलाड़ियों की सूची में भाऊसाहेब निंबलकर टॉप स्थान पर बने हुए हैं। शॉ अब इन दोनों सूचियों में दूसरे स्थान पर आ गए हैं।

परमानेंट ओपनर बनेगा भारत का ये घातक बल्लेबाज खौंफ इतना कि गेंद डालने से पहले ही थर्राते है गेंदबाज

image 157

यह भी पढ़े :- 48 की उम्र में 11 साल साल छोटी हसीना संग नैन मटक्का कर रहा बॉलीवुड का हैंडसम हंक,हसीना की तस्वीरें देख हो जायेंगे लट्टू

पृथ्वी शॉ ने इन खिलाड़ियों को छोड़ा पीछे

बुधवार को पृथ्वी शॉ रणजी ट्रॉफी की एक पारी में 350 रन बनाने वाले नौवें खिलाड़ी बन गए। उन्होंने स्वप्निल गुगाले (351 नाबाद), चेतेश्वर पुजारा (352), वी वी एस लक्ष्मण (353), समित गोहेल (359 नाबाद) और संजय मांजरेकर (377) को पीछे छोड़ा। ऐसा प्रतीत हो रहा था कि वह 400 का आंकड़ा पार कर जाएंगे, लेकिन लंच से पहले के अंतिम ओवर में रियान पराग की गेंद पर वह LBW हुए। 23 साल के पृथ्वी शॉ ने सुनील गावस्कर और चेतेश्वर पुजारा को पीछे छोड़ दिया है. गावस्कर का रणजी ट्रॉफी में सर्वाधिक स्कोर 340 है. वहीं, पुजारा ने साल 2012 में कर्नाटक के खिलाफ 352 रन बनाए थे।

RELATED ARTICLES

Most Popular