नींबू का पौधा लगा कर लेना है फल के फायदे तो, जाने से ये खास बात तब ही उत्पादन कर पाओगे बम्फर नींबू…

By Alok Gaykwad

Published on:

Follow Us

नींबू का पौधा लगा कर लेना है फल के फायदे तो, जाने से ये खास बात तब ही उत्पादन कर पाओगे बम्फर नींबू, नींबू का पौधा लगाना तो आम बात है, लेकिन कई बार ये समस्या आती है कि पौधे में फूल नहीं आते या आ भी जाएं तो झड़ जाते हैं और फल नहीं लग पाते. आज हम आपके साथ कुछ ऐसे नुस्खे शेयर करने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप अपने नींबू के पौधे को खूब फूलों से भर सकते हैं और फल भी भरपूर मात्रा में लगवा सकते हैं. तो चलिए जानते हैं इन टिप्स के बारे में:

यह भी पढ़े : – मार्केट में तूफानी मचा देंगी नई Renault Duster, देखे क्या होंगे बदलाव और धाकड़ इंजन…

धूप वाली जगह का चुनाव

नींबू का पौधा सूरज की रोशनी पसंद करता है. इसलिए इसे हमेशा ऐसी जगह पर रखें जहां कम से कम छह से सात घंटे तक सीधी धूप आती हो. अगर आप इसे बालकनी में रखते हैं, तो ये सबसे बड़ी गलती हो सकती है. पौधे को जितनी ज्यादा धूप मिलेगी, उतनी ही अच्छी तरह से नई पत्तियां और फूल आएंगे.

यह भी पढ़े : – Yamaha MT की हेकड़ी निकाल देंगी Bajaj की दमदार बाइक, किलर लुक और पॉवरफुल इंजन के साथ देखे कीमत

जल निकास का ध्यान रखें

नींबू के पौधे की जड़ों में पानी जमा न होने दें. इसके लिए गमले का जल निकास अच्छा होना चाहिए. पानी जमा होने से फूल झड़ जाते हैं और फल नहीं बन पाते हैं.

सही सिंचाई

नींबू के पौधे की मिट्टी सूखने के बाद ही उसे पानी दें. जब तक मिट्टी पूरी तरह सूख न जाए, तब तक पानी न दें.

पौधे को पोषण दें

नींबू के पौधे को सही पोषण देने के लिए समय-समय पर खाद का इस्तेमाल करें. सबसे पहले गमले की मिट्टी को हल्का सा खोदें ताकि खाद अच्छी तरह से मिल जाए. इसके बाद आप इन खादों का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  • केंचुआ खाद (Vermi Compost): ये पौधे के लिए बहुत फायदेमंद होता है. 12 इंच के गमले में चार मुट्ठी वर्मीकम्पोस्ट मिलाएं.
  • लकड़ी की राख (Wood Ash): ये पौधे को कीड़ों से बचाती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है. 12 इंच के गमले में एक मुट्ठी राख मिलाएं.
  • समुद्री खरपतवार (Seaweed): ये पौधे की वृद्धि में मदद करता है और पूरी तरह से प्राकृतिक होता है. 12 इंच के गमले में 20-25 ग्राम समुद्री खरपतवार मिलाएं.

निराई-गुड़ाई करें

समय-समय पर पौधे के आसपास उगने वाले खरपतवारों को हटाते रहें. ये खरपतवार पानी सोखकर पौधे की नमी को बनाए रखते हैं, जिससे पौधा कमजोर हो सकता है.

टहनियों की कटाई-छंटाई

समय-समय पर पौधे में सूखी टहनियों को काटकर हटा दें. सूखी टहनियां कीड़े-मकोड़ों को आकर्षित करती हैं, जो अपना रस चूसकर पौधे को कमजोर बना सकते हैं.

इन सभी देखभाल युक्तियों और पोषण के सही इस्तेमाल से आपका नींबू का पौधा स्वस्थ रहने के साथ-साथ अच्छे फूल और फल देगा.