NEET PG Choice Filling: एमसीसी ने रिलीज की चॉइस फिलिंग की डेट जानिए कब कर सकते है एप्लाय

0
194
neet pg

NEET PG Choice Filling: एमसीसी ने रिलीज की चॉइस फिलिंग की डेट जानिए कब कर सकते है एप्लाय मेडिकल फील्ड में आपना कर्रिएर बनाने वालो के लिए सुनेहरा मौका है मेडिकल काउंसलिंग कमेटी ने हाल ही में आपने नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट-पोस्टग्रेजुएट (NEET-PG) काउंसलिंग 2022 च्वाइस फिलिंग प्रक्रिया आज से शुरू करने की घोषणा कर दी है. मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) आज 20 सितंबर 2022 से स्टूडेंट्स को अपने पोर्टल के जरिए अपने कोर्सेज और कॉलेज के ऑप्शन फिल करने की मंजूरी दे रही है. एमसीसी नीट पिजी काउंसलिंग 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन करवा चुके उम्मीदवारों को अपने ऑप्शन फिल करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट mcc.nic.in के पोर्टल पर जाकर लॉगिन करना होगा. उम्मीदवारों को अपने आईडी, पासवर्ड जैसी जानकारियों के जरिए साइन इन करना होगा.

neet

इतनी तारीख तक कर सकते है चॉइस फिलिंग

उम्मीदवारों को 25 सितंबर रात 11.55 बजे तक अपने च्वाइस फिल करने का ऑप्शन होगा. वहीं, च्वाइस को लॉक करने के लिए उम्मीदवारों के पास दोपहर 3 बजे से लेकर रात 11.55 बजे तक का वक्त होगा. नीट पीजी काउंसलिंग की शुरुआत हो गई है और ये 23 सितंबर को दोपहर 12 बजे तक समाप्त होने वाली है. नीट पीजी काउंसलिंग कई राउंड में की जाएगी और उम्मीदवारों को उनके द्वारा भरी गई च्वाइस और सीट की उपलब्धता के आधार पर सीटें अलॉट की जाएंगी. उम्मीदवारों को च्वाइस फिलिंग के दौरान अपने कोर्स और कॉलेज की च्वाइस को फिल करना होगा.

इस तारीख को आएगा पहले राउंड का रिजल्ट

आप को बता दे कि उम्मीदवारों द्वारा भरी गई च्वाइस को वह बदला भी सकते है. लेकिन अगर वे उसे लॉक कर देते हैं, तो फिर उनके पास बदलाव करने का कोई ऑप्शन नहीं होगा. नीट पीजी काउंसलिंग की पहले राउंड की सीट अलॉटमेंट लिस्ट 28 सितंबर 2022 को जारी की जाएगी और जिन उम्मीदवारों को पहले राउंड के तहत सीटें अलॉट की जाएंगी. उन्हें 29 सितंबर से 4 अक्टूबर 2022 तक आगे की ज्वाइनिंग और रिपोर्टिंग के लिए जाना होगा. एमसीसी ऑल इंडिया कोटे के 50 फीसदी सीटें और डीम्ड/सेंट्रल यूनिवर्सिटी/एएफएमएस और पीजी डीएनबी की 100 फीसदी सीटों के लिए नीट पीजी काउंसलिंग करवा रही है.

ध्यान से पढ़ ले ये गाइडलाइन

  • उम्मीदवारों के पास 30 से 40 ऑप्शन चुनने का विकल्प होगा.
  • उम्मीदवारों द्वारा भरे गए च्वाइस के आधार पर सीट अलॉटमेंट होगा. इसलिए च्वाइस फिलिंग को वरीयता क्रम में होने चाहिए
  • उम्मीदवारों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि NEET PG काउंसलिंग रजिस्ट्रेशन के दौरान भरी गई सभी जानकारी सही और तथ्यात्मक है.
  • अगर उम्मीदवार अपने प्रिफरेंस को लॉक नहीं करते हैं, तो ये ऑटोमैटिक तरीके से लॉक हो जाएगा और वे इसमें बदलाव नहीं कर पाएंगे.
  • नई च्वाइस फिलिंग नीट पीजी काउंसलिंग राउंड 1 और 2 के साथ-साथ मॉप-अप राउंड काउंसलिंग में भी उपलब्ध होगी.