Mosquitoes: मच्छरों का भीड़ में सिर्फ आपको कांटना क्या है इसके पीछे राज आइये जानते है

0
155
mosquito

Mosquitoes: मच्छरों का भीड़ में सिर्फ आपको कांटना क्या है इसके पीछे राज आइये जानते है मच्छर जब भी काटता है तो हर बार ऐसा लगता है की मुझे ही क्यों सबसे ज्यादा मच्छर काटते है मच्छर हर एक इंसान की दिक्कत है और खास तोर पर बारिश के दिनों में सबसे ज्यादा मच्छर काटते है और हर जगह पनपते है अगर आपको भी लगता है कि मच्छर हर बार जगह आपको ही ढूंढ-ढूंढकर काटते हैं या आपके पीछे पड़े रहते हैं तो आप बिल्कुल भी गलत नहीं हैं. मच्छर लोगों की भीड़ में भी खासतौर से आपको ही खाते हैं और इसके पीछे आपका वहम नहीं बल्कि कई कारण हैं. स्टडीज बताती हैं कि मच्छरों का आपको सबसे ज्यादा काटने के पीछे क्या कारण हैं जोकि आपको हैरान कर सकते हैं. हालांकि, यहां मामला मीठे या कड़वे खून का नहीं है बल्कि कई अलग चीजे हैं. तो चलिए, इसकी असल वजह जान लेते हैं.

कुछ स्पेशियल लोगो को ही क्यों काटते है मच्छर?

ये हो सकते है कारण
ये ब्लड ग्रुप है मच्छरो का फेवरेट

बहुत सी स्टडीस में ये ये पाया गया है की O ब्लड ग्रुप मच्छरों का मनपसंद ब्लड ग्रुप है, O ब्लड ग्रुप वाले लोगो को ज्यादा मच्छर काटते हैं. मच्छर इस ब्लड ग्रूप से ज्यादातर आकर्षित होते हुए देखे गए हैं. वहीं, मेटाबॉलिक रेट भी मच्छरों की पसंद को प्रभावित करता है. प्रेग्नेंट औरतों और मोटे लोगों का मेटाबॉलिक रेट ज्यादा होता है जिसके चलते मच्छर उन्हें ज्यादा काटते हैं.

शरीर की गंध से भी काटते है मच्छर

मच्छर खुशबू-बदबू सब सूंघ सकते हैं. उन्हें लैक्टिक एसिड, अमोनिया और अन्य कंपाउंड्स की भी पहचान होती है जो पसीने के माध्यम से शरीर से निकलते हैं. अगर मच्छरों को आपके शरीर से आ रही गंध अच्छी लगेगी तो वे आपको ज्यादा काट सकते हैं.

Mosquito_bites__1_

त्वचा के बैक्टीरिया भी एट्रैक्ट करते है मच्छरों को

स्किन के ऊपर मौजूद बैक्टीरिया मच्छरों के लिए आमंत्रण होता है. कई रिसर्च कहती हैं कि व्यक्ति के शरीर पर जितने बैक्टीरिया होंगे उतने ही मच्छर उसकी तरफ आएंगे. इसके चलते भी मच्छर ज्यादातर पैरों में काटते हैं क्योंकि वहां बैक्टीरिया की मात्रा ज्यादा होती है .

लम्बी सांसो से भी काटते है मच्छर

कार्बनडाइऑक्साइड ऐसी गैस है जिसकी मच्छरों को पहचान है. इसके साथ ही, मच्छर 5 से 15 मीटर दूर से भी मच्छर अपने निशाने को पहचान लेते हैं. जो लोग जितनी लंबी सांसे लेते हैं यानी कार्बनडाइऑक्साइड प्रोड्यूस करते हैं, उतने ही मच्छर उनकी तरफ आकर्षित होते हैं.