Friday, March 31, 2023

Conch Shell Benefits : 14 अनमोल रत्नों में से एक शंख जानिए इसके चमत्कारिक लाभ

Miraculous Benefits Of Conch Shell :– 14 अनमोल रत्नों में से एक शंख जानिए इसके चमत्कारिक लाभ। शंख (Astro Tips ) समुद्र मंथन के समय प्राप्त 14 अनमोल रत्नों में से एक है। लक्ष्मी के साथ (Vastu Tips ) उत्पन्न होने के कारण इसे ‘लक्ष्मी भ्राता’ भी कहा जाता है। यही कारण है कि जिस घर में शंख होता है, वहां लक्ष्मी का वास होता है। घर में शंख जरूर रखें। शंख ( Conch Shell ) के कई उपयोग और महत्व है। शंख बजाने ( Astrology ) से जहां सेहत में लाभ मिलता है और घर का वातावरण शुद्ध होता है वहीं इसके घर में रखे रहने से आयुष्य प्राप्ति, लक्ष्मी प्राप्ति, पुत्र प्राप्ति, पितृ-दोष शांति, विवाह आदि की रुकावट भी दूर होती है। इसके अलावा शंख कई चमत्कारिक लाभ के लिए भी जाना जाता है।

घर में पवित्र और ऊर्जावान वस्तुएं रखने से घर के सदस्यों के दिमाग भी शांत और प्रगतिशील रहते हैं। घर में ऐसी कोई नकारात्मक वस्तु नहीं होना चाहिए, जो घर की शांति भंग करे। सनातन परंपरा में शंख को अत्यंत पवित्र और पूजनीय माना गया है। शुभ कार्य, पूजा -पाठ, हवन सहित धार्मिक कार्यक्रम में शंख बजाया जाता है। शंख को घर में पूजा स्थल पर रखा जाता है। उच्च श्रेणी के श्रेष्ठ शंख कैलाश मानसरोवर, मालद्वीप, लक्षद्वीप, कोरामंडल द्वीप समूह, श्रीलंका एवं भारत में पाये जाते हैं।

Conch Shell Benefits : 14 अनमोल रत्नों में से एक शंख जानिए इसके चमत्कारिक लाभ

image 233

शंख बजाने से सुख सौभाग्य और समृद्धि आती है Blowing the conch shell brings happiness, good fortune and prosperity.

ज्योतिष शास्त्र में शंख को बुध ग्रह से संबंधित माना गया है। शंख बजाने से सुख, सौभाग्य और समृद्धि आती है। ऐसा माना जाता है कि सुबह और शाम शंख बजाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और भूत-प्रेत से संबंधित बाधाएं और नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है। इसमें जल भरकर घर में छिड़कने से घर शुद्ध रहता है, इसलिए पूजा के स्थान पर शंख को हमेशा जल से भरा रखना चाहिए।

image 234

यह भी पढ़े :- Saat Anaj Ke Chamatkari Totke : सात अनाज के इस टोटके से कारोबार में दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की होगी मिलेंगा जीवन में लाभ

शंख जिस घर में होता है वहां देवी लक्ष्मी का वास होता है Goddess Lakshmi resides in the house where there is conch shell.

शंख जिस घर में होता है वहां देवी लक्ष्मी का वास होता है ऐसा माना जाता है कि जिस घर में शंख होता है और जहां उसकी पूजा होती है, वहां हमेशा देवी लक्ष्मी का वास होता है। देवी लक्ष्मी की मूर्ति या तस्वीर के पास शंख रखने से घर में सुख, समृद्धि और वैभव आता है। शंख की शुद्धता का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि इसे सभी देवताओं ने स्वयं अपने हाथों में धारण किया है।

image 235

शंख की पूजा पापों का नाश होता है Worship of conch shell destroys sins

ऐसा माना जाता है कि तीर्थों में जाकर दर्शन करने से जो शुभ फल प्राप्त होता है, वह घर में शंख रखने और दर्शन करने से ही प्राप्त किया जा सकता है। यही कारण है कि हिंदू धर्म में पूजा में न केवल शंख का इस्तेमाल किया जाता है, बल्कि शंख की भी पूजा की जाती है। अथर्ववेद में शंख को पापों का नाश करने वाला, लंबी आयु का दाता और शत्रुओं पर विजय दिलाने वाला बताया गया है।

नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है Negative energy goes away and positive energy comes in the house

शंख में जल का छिड़काव करने से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है। आस-पास का वातावरण शुद्ध हो जाता है। वास्तु शास्त्र में शंख का विशेष महत्व है शंख को घर की कमजोर दिशा में रखने से यश, कीर्ति और उन्नति की प्राप्ति होती है। वहीं, शंख को घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रखने से शिक्षा में सफलता के योग बनते हैं। शंख को पूजा स्थल या लिविंग रूम में रखना भी फायदेमंद माना जाता है।

image 236

यह भी पढ़े :- पीली सरसों के चमत्कारी टोटके से कांटों भरा सफर होगा आसान, मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए आजमाए ये उपाय

रोजाना शंख बजाना सेहत के लिए फायदेमंद होता blowing conch shell daily is beneficial for health

शंख न केवल सौभाग्य का प्रतीक है बल्कि स्वास्थ्य का भी कारक है। इसे बजाने से वास्तु दोष दूर होते हैं और फेफड़े हमेशा मजबूत रहते हैं। रोजाना शंख बजाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। शंख बजाने से हमारे फेफड़े मजबूत होते हैं और सांस लेने की समस्या दूर होती है। ऐसा माना जाता है कि शंख में रखा पानी खराब नहीं होता है। शंख में कैल्शियम, फास्फोरस और सल्फर के गुण होते हैं। इसका पानी पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं और दांत भी स्वस्थ रहते हैं।

(डिस्क्लेमर : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। बैतूल समाचार इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लें।)

RELATED ARTICLES

Most Popular