Kheti kisani: मशरूम की खेती कर किसानो की बदल जाएगी किस्म, जाने पूरी जानकारी…

By Alok Gaykwad

Published on:

Follow Us

Kheti kisani: मशरूम की खेती कर किसानो की बदल जाएगी किस्म, जाने पूरी जानकारी, आजकल खेती का मतलब बदल रहा है. पहले ग्रामीण इलाकों में ये समझा जाता था कि जो पढ़ नहीं सकता, वही खेती करता है. लेकिन अब हालात बदल रहे हैं. उच्च शिक्षा प्राप्त युवा भी खेती की तरफ रुख कर रहे हैं, खासकर मशरूम की खेती की तरफ.

यह भी पढ़े : – Bajaj मोटर्स ने अपने ग्राहकों की धकड़ने तेज करने जल्द पेश करेंगी अपनी स्पोर्टी लुक न्यू Pulsar RS 200, देखे कमाल फीचर्स के साथ धमाल इंजन

आजकल नौकरियों की कमी है और बहुत कम लोगों को ही नौकरी मिल पाती है. ऐसे में अगर युवा नौकरी की दौड़ में शामिल होने के बजाय मशरूम की खेती को एक स्टार्टअप की तरह अपनाएं, तो अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं.

यह भी पढ़े : – Desi jugaad: बंदे का देसी कूलर वाला जुगाड़ देख दीवाने हो जाओगे आप, देखे वायरल वीडियो…

मशरूम की खेती कर के युवा आत्मनिर्भर बन सकते हैं. साथ ही, इससे कई परिवारों को रोजगार भी मिल सकता है. दरअसल, पूरे देश में मशरूम की डिमांड तेजी से बढ़ रही है, जबकि उत्पादन अभी भी मांग का सिर्फ 10 फीसदी ही पूरा कर पाता है. यानी इस क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं.

अच्छी बात ये है कि मशरूम की खेती कम लागत में भी शुरू की जा सकती है. इसके लिए ज्यादा जगह या महंगे सामान की जरूरत नहीं होती, सिर्फ पराल का इस्तेमाल करके भी शुरुआत की जा सकती है. भविष्य में प्रोसेसिंग यूनिट लगाकर इन मशरूमों को पूरे देश,甚至 दुनियाभर में फूड सप्लीमेंट के तौर पर भी सप्लाई किया जा सकता है.

गौर करने वाली बात ये है कि मशरूम एक सुपरफूड है, यानी इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं. साथ ही, इसका स्वाद भी लाजवाब होता है, इसलिए इसकी डिमांड बाजार में बनी रहती है और जल्दी फायदा मिलने की संभावना रहती है. अच्छी बात ये है कि मशरूम की खेती ज्यादा मेहनत वाली नहीं है और इसे थोड़ी सी कोशिश से सफलतापूर्वक किया जा सकता है. इसके लिए किसी खास टेक्निकल ज्ञान की भी जरूरत नहीं होती है. हालांकि, शुरुआत में किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन जरूर लेना चाहिए. अगर आप धैर्य और लगन से मशरूम की खेती करते हैं, तो अच्छी कमाई होने के कईं रास्ते खुल सकते हैं.