मालाबार नीम की खेती से बदल सकती आपकी किस्मत मात्र 4 एकड़ में खेती करके आसानी से कमा सकते 50 लाख रुपये तक जानिए

0
59
मालाबार नीम की खेती से बदल सकती आपकी किस्मत मात्र 4 एकड़ में खेती करके आसानी से कमा सकते 50 लाख रुपये तक जानिए

Malabar Neem Cultivation :- मालाबार नीम की खेती से बदल सकती आपकी किस्मत मात्र 4 एकड़ में खेती करके आसानी से कमा सकते 50 लाख रुपये तक जानिए। मालाबार नीम के पौधे 5 साल में ही इमारती लकड़ी देने लगते हैं। इन्हें ज्यादा खाद-पानी की जरूरत नहीं रहती है। इसकी सबसे खास बात ये है कि इसे दूसरी फसलों के साथ भी लगाया जा सकता है। आज कल के इस अर्थयुग में बहुत से पढ़े लिखे लोग खेती की ओर रूख कर रहे हैं। अगर आप भी बेहद कम समय में करोड़पति बनना चाहते हैं तो आज हम आपको एक ऐसा आइडिया दे रहे हैं, जो सिर्फ 5 साल के भीतर आपको मालामाल कर देगा।

Malabar Neem Cultivation करके अपनी किस्मत आजमा सकते हैं। इन पेड़ों को फसलों के साथ भी लगा सकते हैं। जिससे आपको अतिरिक्त जमीन की जरूरत नहीं पड़ेगी । मालाबार नीम या गेलिया डबिया इस पेड़ को कई नाम से जाना जाता है। गेलियासी वनस्पति परिवार से उत्पन्न, मालाबार नीम यूकेलिएस की तरह तेजी से बढ़ता है। मालाबार नीम की खेती कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और केरल के किसान इस पेड़ की खेती बड़े पैमाने पर कर रहे हैं।

मालाबार नीम की खेती से बदल सकती आपकी किस्मत मात्र 4 एकड़ में खेती करके आसानी से कमा सकते 50 लाख रुपये तक जानिए

मालाबार नीम का पेड़ सभी प्रकार की मिट्टी में लगता है

यह मालाबार नीम का पेड़ है जो साधारण नीम से थोड़ा अलग होता है।यह सभी प्रकार की मिट्टी में लगता है। इसकी खेती सभी तरह की मिट्टी में आसानी से की जा सकती है। इसके लिए ज्यादा पानी की भी आवश्यकता नहीं पड़ती ये कम पानी में ही अच्छे से ग्रो कर सकते हैं।

image 197

मालाबार नीम की खेती के लिए उपयुक्त समय

Malabar Neem का बीज मार्च और अप्रैल महीने के दौरान बोना सबसे अच्छा माना जाता है।

यह भी पढ़े :- 50 किलो DAP के बराबर होगी 500 ml की Bottle किसानो को कृषि में मिलेगी मदद किफायती होने के साथ…

मालाबार नीम की नर्सरी 

Malabar Neem की बुवाई के लिए मार्च और अप्रैल का महीना सबसे उपयुक्त माना गया है। नर्सरी में भी इसके पौधे तैयार कर इसकी खेती की जा सकती है। मालाबार का बीज नर्सरी में मार्च और अप्रैल के दौरान बोना सबसे अच्छा है। साफ और सूखे बीजों को खुली नर्सरी बेड में 5 सेंटीमीटर की दुरी पर ड्रिल की गई लाइनों में बोना चाहिए। रेत में बीज अंकुरित नहीं होते हैं इसलिए उन्हें मिट्टी और थ्ल्ड खाद के 2: 1 के अनुपात में या फिर 1: 1 अनुपात में मिलाकर लगाया जा सकता है।

image 200

मालाबार नीम की खेती से बदल सकती आपकी किस्मत मात्र 4 एकड़ में खेती करके आसानी से कमा सकते 50 लाख रुपये तक जानिए

मालाबार नीम के प्रति एकड़ के लिए पेड़

Malabar Neem के 4 एकड़ में 5000 पेड़ लगाए जा सकते हैं। जिसमें 2000 पेड़ खेत के बाहर वाली मेड़ पर और 3000 पेड़ खेत के अंदर मेड़ पर लगाए जा सकते हैं।

image 198

मालाबार नीम के पेड़ की ऊंचाई

Malabar Neem के पौधों को लगाते ही 2 साल के भीतर 40 फुट तक ऊंचे हो जाते हैं। पांच साल में ही यह इमारती लकड़ी देने लायक हो जाते है। इसका पौधा एक साल में 08 फीट की ऊंचाई तक बढ़ता है। इसके पौधों में दीमक नहीं लगने की वजह से इसकी मांग ज्यादा है। इसकी लकड़ी प्लाईवुड उद्योग के लिए सबसे पसंदीदा प्रजाति मानी जाती है।

मालाबार नीम की खेती से बदल सकती आपकी किस्मत मात्र 4 एकड़ में खेती करके आसानी से कमा सकते 50 लाख रुपये तक जानिए

image 199

यह भी पढ़े :- चने की खेती एवं अधिक उपज देने वाली प्रमुख किस्मे जानिए खेती की सम्पूर्ण जानकारी

मालाबार नीम की खेती से कितनी होगी कमाई

Malabar Neem का पेड़ मार्केट में कम से कम यह 500 रुपये कुंतल बिकता है। ऐसे में अगर 6000-7000 रुपये भी एक पौधा बिकेगा तो आराम से किसान लाखों रुपये कमा सकते हैं। आप इसकी खेती कर 4 एकड़ में करके आसानी से 50 लाख रुपये तक कमाई की जा सकती है। एक पेड़ का वजन डेढ़ से दो टन होता है। मालाबार नीम के पेड़ों की लकड़ी को 8 साल के बाद बेच सकते हैं।