महाकाल मंदिर में VIP कल्चर को लेकर मुख्यमंत्री के खिलाफ हुई नारेबाजी, आम जनता दर्शन के लिए बेताब

By दिगम्बर बर्डे

Published on:

महाकाल मंदिर में VIP कल्चर को लेकर मुख्यमंत्री के खिलाफ हुई नारेबाजी, आम जनता दर्शन के लिए बेताब

Ujjain News: सावन का महीना चल रहा है और विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग बाबा महाकालेश्वर के धाम में बीते सोमवार को श्रावण का सातवां सोमवार बाबा महाकाल की सवारी और नाग पंचमी के पर्व का खास संयोग रहा. इस खास मौके पर मंदिर में करीब 8 लाख से ज्यादा भक्तों ने बाबा के दर्शन किए. लेकिन इसके बावजूद प्रशासन की सारी व्यवस्था फेल हो गई. 1 घंटे में दर्शन का दावा करने वाला प्रशासन 8 घंटे तक भी भक्तों को दर्शन नहीं करवा पाया. नतीजा ये रहा कि सीएम शिवराज के खिलाफ मंदिर में नारेबाजी शुरू हो गई. 8 घंटे से लाइन में खड़ी भीड़ ने नारे बाजी चालू कर दी मंदिर के अंदर भी नारे बजी हो रही थी

यह भी पढ़िए – सरकार ने किया बड़ा ऐलान!,क‍िसानों में छायी ख़ुशी की लहर, सीधे खाते में आएंगे ₹ 12000, जाने क्या है पूरी योजना

VIP व्यवस्था हुई फेल

दरअसल जिला प्रशासन ने 1 घण्टे में दर्शन करवाने का दावा किया था. लेकिन दर्शनार्थी अव्यवस्थाओं का शिकार हुए. मंदिर में 300 रुपये शुल्क लेकर शीघ्र दर्शन व्यवस्था पूरी तरह फेल हो गई. VIP पास की व्यवस्था भी फेल हो गई. आम जन 8 घण्टे लाइन में खड़े रहे, तब जाकर दर्शन हुए. उसके बाद ही उनको दर्शन करने का सुनहरा अवसर प्राप्त हुआ 8 घंटे बाद मंदिर में नारे बाजी शुरू हो गई CM शिवराज सिंह के खिलाफ

पारस जैन बैठे धरने पर लोगो ने मांगी माफ़ी

वही निजी कंपनी के गार्डों की अभद्रता की शिकायत भी दर्शनार्थियों के माध्यम से सामने आई. अव्यवस्थाओं से नाराज होकर दर्शनार्थियों ने शिवराज और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. वहीं सत्ताधारी विधायक पारस जैन दर्शनार्थियों की समस्या देख धरने पर बैठ गए और आम जनता से उन्होंने माफी मांगी.

यह भी पढ़िए – बस 110km चली हो गई ख़राब नई Tata Altroz! खरीदने से पहले आप भी सोच लीजिये देखिये फिर क्या हुआ

क्यों है मंदिरो में VIP कल्चर

  1. महाकाल मंदिर में आम दर्शनार्थियों को प्रातः 4 से संद्या 10 बजे तक निःशुल्क प्रवेश दिया जाता है.
  2. जिसे शीघ्र महाकाल भगवन के दर्शन करना हैं वो 250 रुपये लेकर मंदिर में नंदी हॉल के पीछे बेरेगेटिंग से दर्शन कर सकते है.
  3. जिसका सोर्स है, प्रोटोकॉल में वह 250 रुपये की रसीद लेकर व कई बार तो बिना रसीद लिए ही नंदी हॉल तक पहुंच जाते है.
  4. 11 सितंबर तक गर्भ गृह में प्रवेश पुजारी, साधु, संत को छोड़कर सबके लिए पूर्णतः प्रतिबंध है. आम दिनों में 750 रुपये प्रत्येक व्यक्ति से गर्भ गृह में प्रवेश के लिए जाते है.
  5. 200 रुपये भस्मार्ती बुकिंग शुल्क लिया जाता है.
  6. हाल ही में नागपंचमी पर 350 रुपये शुल्क लिया गया, शीघ्र दर्शन के नाम पर और उसमें भी दर्शन नहीं हुए आम जनता ने आरोप लगाया है.

7 . मंदिर में कुल मिलाकर VIP कल्चर हावी है. क्योंकि कोई VIP मंदिर जब बिना किसी टिकट के और गर्भ गृह के द्वार तक नंदी हॉल तक पहुंचता है तो पीछे खड़े दर्शनार्थी भगवान के दर्शन नहीं कर पाते है.

  1. मंदिर में VIP कल्चर को खत्म करने को लेकर आम दर्शनार्थियों ने मांग की है. भक्तों ने कहा कि मंदिर में सबको समान रूप से देखा जाना चाहिए. क्योंकि कल आसानी से VIP के साथ वाले दर्शन कर रहे थे, आम जन घण्टों लाइन में लगे पर दर्शन नहीं हो पाए ठीक है. जो VIP है, वहीं दर्शन करें साथ वाले नहीं. और जो लोगो ने बोलै ही वो सही भी है
  2. मंदिर में क्रिस्टल कंपनी की जो सिक्योरिटी है, उनके भक्तों के साथ उचित व्यवहार नहीं है. इस बात को लेकर कारवाही की जाये

दिगम्बर बर्डे