Laddu Gopal: घर में है लड्डू गोपाल तो इन बातो का रखे ध्यान, लड्डू गोपाल के यह है नियम

By charpesuraj5@gmail.com

Published on:

Follow Us

Laddu Gopal: हिंदू धर्म में भगवान कृष्ण के बाल रूप यानी लड्डू गोपाल की पूजा का विशेष महत्व होता है. लड्डू गोपाल घर में विराजते हैं और इनकी पूजा एक लाडले बालक की तरह की जाती है. उन्हें रोज स्नान कराना, वस्त्र पहनाना और तरह-तरह का भोग लगाना, ये सब श्रद्धाभाव से किया जाता है. साथ ही इनकी पूजा में पवित्रता का भी विशेष ध्यान रखा जाता है.

यह भी पढ़े- Creta की छाती पर तांडव करने आयी नई Maruti Suzuki Fronx, बेजोड़ मजबूत इंजन के साथ मिल रहे धांसू फीचर्स

लेकिन कई बार जब हमें घर से बाहर जाना होता है, तो उन्हें अपने साथ ले जाना मुमकिन नहीं होता. ऐसे में कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. दरअसल, जिस तरह आप अपने छोटे बच्चों को घर में अकेला नहीं छोड़ते, उसी तरह लड्डू गोपाल को भी अकेला नहीं छोड़ना चाहिए. लेकिन अगर मजबूरी में ऐसा करना पड़ रहा है, तो शास्त्रों में कुछ नियम बताए गए हैं. आइए, इनके बारे में विस्तार से जानते हैं भोपाल निवासी ज्योतिष आचार्य पंडित योगेश चौरसे से.

ध्यान रखें ये बातें

शास्त्रों के अनुसार, अगर आपको घर से बाहर जाते समय किसी कारणवश लड्डू गोपाल को अकेला छोड़ना पड़े, तो उन्हें सुला देना चाहिए. साथ ही लड्डू गोपाल को कई तरह के भोग भी लगाकर जाएं.

भोग में तुलसी पत्र जरूर शामिल करें. मान्यता है कि तुलसी पत्र डालने से भगवान अवश्य प्रसन्न होते हैं. लड्डू गोपाल के लिए जितने दिनों के लिए आप उन्हें छोड़कर जा रहे हैं, उतने दिनों के तुलसी पत्ते एक पात्र में रखकर जाएं.

रोज़ाना के नियम भी याद रखें

  1. लड्डू गोपाल को शंख से जल भरकर स्नान कराना चाहिए.
  2. स्नान के बाद उस जल को तुलसी के पौधे में डाल दें.
  3. स्नान के बाद हमेशा साफ वस्त्र पहनाएं.
  4. लड्डू गोपाल को वस्त्र पहनाने के साथ ही उनका श्रृंगार भी करें.
  5. लड्डू गोपाल को चंदन का तिलक लगाएं.
  6. उन्हें आभूषण पहनाएं और मुकुट में मोरपंख लगाएं.