किसानों के लिए लाभ का जरिया बनेगी गुग्गल की खेती, विदेशों में है इसकी भारी डिमांड, जाने कितना होगा मुनाफा

By Alok Gaykwad

Published on:

Follow Us

Cultivation of Guggul: किसानों के लिए लाभ का जरिया बनेगी गुग्गल की खेती, विदेशों में है इसकी भारी डिमांड, जाने कितना होगा मुनाफा. देश में बहुत से किसान अब परंपरागत खेती को छोड़ औषधीय पौधों की खेती करने में अधिक रूचि दिखा रहे है। ऐसे में आज हम आपके लिए एक औषधीय पौधे की खेती के बारे में जानकारी लेकर आये है. जिसकी खेती किसानो को मालामाल कर देगी।हम बात कर रहे है गुग्गल की खेती की, बहुत से लोगो ने आज से पहले गुग्गुल का नाम नहीं सुना होगा. यह एक प्रमुख औषधीय पौधा है. जो आज के समय में किसानों की कमाई बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है. पौधा मुख्य रूप से भारत के उपमहाद्वीप इलाकों में देखने को मिलता है. इस पौधे का ज्यादातर इस्तेमाल आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जाता है ,आइये जानते है इसके बारे में जानकारी। …

सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है गूगल

image 488

आपको जानकारी के लिए बता दे की गूगल का पौधा औशधीय गुणों की खान होता है। यह पौधा कार्डियोवास्कुलर स्वास्थ्य, सौंदर्य और वजन घटाने में मददगार साबित हो सकता है. यह इंफ्लेमेशन कम करने, रक्तचाप को नियंत्रित करने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने और लिपिड प्रोफाइल को सुधारने में भी सहायक हो सकता है. इसके अलावा, गुग्गुल को हाथ, पैर और जोड़ों के दर्द के इलाज में भी प्रयोग किया जाता है.

यह भी पढ़े: किसानों को लखपति बना सकती है इलायची की खेती, बस अपनाये ये सरल तरीका, जाने खेती की पूरी जानकारी

किसानों के लिए लाभ का जरिया बनेगी गुग्गल की खेती, विदेशों में है इसकी भारी डिमांड, जाने कितना होगा मुनाफा

गुग्गुल की खेती के लिए उपयुक्त मिटटी

image 489

गुग्गुल की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी, पानी और उचित पर्यावरणीय तत्वों की आवश्यकता होना जरुरी होता है. तभी आप इस पौधे की खेती की सरलता से कर सकते है। इसके पौधे की एक साल में गुग्गुल बनाने के लिए कटाई की जाती है. गुग्गुल के पौधों की कटाई के बाद उन्हें सुखा दिया जाता है. सुखाने के बाद, गुग्गुल की गोंद या रस तैयार की जाती है. जो औषधीय उपयोग में प्रयोग में लायी जाती है।

आयुर्वेदिक व होमियोपैथिक दोनों चिकित्सा पद्धति में किया जाता है उपयोग

image 490

गुग्गुल का उपयोग देवी- देवताओ को धूप देने के लिए किया जाता है। यहां तक कि गुग्गुल से गोंद तक का निर्माण होता है. बता दें कि इसकी जड़ों से प्राप्त किए जाने वाले तेल को आयुर्वेदिक व होमियोपैथिक दोनों चिकित्सा में उपयोग किया जाता है.गुग्गुल उत्पादन करके लोग उन्हें आयुर्वेदिक चिकित्सा या औषधीय उत्पाद कंपनियों को बेच सकते हैं. जिससे अच्छी खासी कमाई हो सकती है. भारतीय गुग्गुल को अन्य देशों में निर्यात करके भी कमाई की जा सकती है. गुग्गुल की मांग विदेशी बाजारों में भी काफी होती है. ऐसे में किसान इसकी खेती कर अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

यह भी पढ़े: Rose Apple की खेती से किसान हो सकते है मालामाल, हर साल कर सकते हैं मोटी कमाई, जाने तरीका

भारत के इन राज्यों में आसानी से उगाया जाता है गुग्गुल का पौधा

image 491

गुग्गुल का पौधा प्रमुख रूप से भारत के थार मरुस्थली क्षेत्र जैसलमेर, बीकानेर और जोधपुर में पाया जाता है. इसके अलावा यह पौधा मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश जैसे क्षेत्रों में भी पाया जाता है. इसकी खेती कर किसान को अच्छा मुनाफा हो सकता है।