किसानो को मालामाल बना देगी काले टमाटर की खेती, कम समय में होगा मोटा मुनाफा देखे पूरी जानकरी

किसानो को मालामाल बना देगी काले टमाटर की खेती, कम समय में होगा मोटा मुनाफा देखे पूरी जानकरी

अधिकांश लोगों को टमाटर सिर्फ लाल रंग में ही पसंद होते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि टमाटर काले रंग में भी उगाए जा सकते हैं? जी हां, ये बिल्कुल सच है! हाल के दिनों में भारत में भी काले टमाटरों की खेती काफी तेजी से बढ़ रही है.काले टमाटर न सिर्फ दिखने में अनोखे हैं, बल्कि इनमें कई पोषक तत्व भी पाए जाते हैं. कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, इनके सेवन से कई गंभीर बीमारियों को भी ठीक करने में मदद मिल सकती है, जिनमें कैंसर भी शामिल है. साथ ही, इनकी खेती से कुछ ही महीनों में लाखों रुपये का मुनाफा कमाया जा सकता है. तो चलिए अब जानते हैं कि काले टमाटरों की खेती कैसे की जाती है?

भारत में काले टमाटरों की खेती (Bharat mein Kale Tamatarों ki Kheti)

पहले भारत में काले टमाटर नहीं उगाए जाते थे. लेकिन अब यूरोप की तरह भारत में भी इनका चलन बढ़ रहा है. यूरोप में काले टमाटर को सुपरफूड की तरह खाया जाता है. इन्हें इंग्लैंड में “इंडिगो रोज़ टमाटर” (Indigo Rose Tomato) के नाम से जाना जाता है.

कुछ समय पहले तक भारत में सिर्फ हिमाचल प्रदेश में ही काले टमाटरों की खेती होती थी. लेकिन अब कई अन्य राज्यों में भी इसकी शुरुआत हो चुकी है. इसकी खेती के लिए मिट्टी का पीएच मान 6 से 7 के बीच होना चाहिए. साथ ही, काले टमाटर गर्म जलवायु में अच्छी तरह से उगते हैं. हालांकि, लाल टमाटरों की तुलना में इनके फल थोड़ा देर से आते हैं. इनकी खेती के लिए सर्दियों के महीने उपयुक्त माने जाते हैं.

अच्छी कमाई का जरिया (Accha Kamai ka Zariya)

बुवाई के करीब 3 महीने बाद काले टमाटर के पौधे फल देने लगते हैं. यानी अगर आप दिसंबर में इनकी खेती करते हैं, तो मार्च-अप्रैल में ये तोड़ने के लिए तैयार हो जाएंगे. अगर आप एक हेक्टेयर खेत में काले टमाटरों की खेती करते हैं, तो आपको लगभग 4,00,000 रुपये तक का मुनाफा हो सकता है. इसका मतलब है कि कुछ ही महीनों में आप खेती से लाखों रुपये कमा सकते हैं. फिलहाल, भारत में काले टमाटरों की कीमत 100 से 150 रुपये प्रति किलो के बीच है