Investment Tips: म्यूचल फंड में करते है अपने पैसो को इन्वेस्ट, जान लीजिये इन 3 दमदार टिप्स को, बन जायेंगें एक्सपर्ट

By सचिन

Published on:

Investment Tips

Investment Tips: आपको बता दें की भारत में ज्‍यादातर इन्वेस्टर किसी म्यूचल फंड को उसके पिछले प्रदर्शन के आधार पर या फंड मैनेजर या फंड हाउस का नाम देखकर उसको जज करते है और इसीलिए यदि आप भी ऐसे ही किसी फंड के बारे में सोचते है तो आज हम आपको 3 ऐसी टिप्स बतायेगें जो आपको भी एक एक्सपर्ट बना देंगी लेकिन कई इन्वेस्टर उन फंडों के पीछे ही पड़ जाते है जिनका रुझान उस वक्त बाजार में होता है लेकिन आप यह सोच रहे होंगे कि यदि कोई इन्वेस्टर ऐसा करता है तो इसमें क्या गलत है लेकिन आपको बता दें की काफी सारे एक्‍सपर्ट भी इसी बात पर भरोसा करते हैं|

लेकिन यदि पिछले परफॉरमेंस को देखें तो हमेशा ऐसे चक्र आते रहते हैं जब एक्सपर्ट्स या फण्ड हाउस कभी अच्छा परफॉर्म करते हैं लेकिन कई बार ख़राब परफॉर्म भी करते है इसीलिए यदि आप लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट करने के बारे में सोच रहे हैं तो 3 ऐसी बातों पर ध्यान देना चाहिए जो आपके पैसों को डूबने से बचा सकें लेकिन यदि इन बातों को ध्‍यान में रखें तो आप न सिर्फ म्यूचल फंड के एक्‍सपर्ट बन सकते है लेकिन आपके हर निवेश पर अच्छा रिटर्न भी मिलना शुरू हो जाएगा|

सही प्रोसेस से करें निवेश

Investment Tips

यदि लॉन्ग टर्म में सफलता पाना चाहते है तो इसके लिए एक मजबूत प्रक्रिया को अपनाना किसी भी इन्वेस्टर की सबसे पहली जरूरत होनी चाहिए और यदि प्रोसेस सही से अपनाई जाये तो आपका पैसा डूबने का खतरा बिलकुल कम होजाता है लेकिन आपको बता दें की अच्‍छे इन्वेस्टर्स भी कई बार गलती कर देते हैं और हाल ही में निप्पॉन इंडिया म्यूचल फंड ने बताया है कि यदि निवेश के प्रोसेस पर सही निगरानी रखते है तो बाजार के उतार-चढ़ाव को पार करते हुए हर इन्वेस्टमेंट पर अच्छा रिटर्न लिया जा सकता है|

रिस्‍क मैनेजमेंट है बहुत जरुरी

यदि आप किसी भी इन्वेस्टमेंट को सुरक्षित रखना चाहते है तो इसके लिए जरूरी है कि अच्छी तरह से जोखिम का प्रबंधन किया जाए वैसे तो ज्यादा रिस्क संभावित रूप से ज्यादा रिटर्न से जुड़े हुए रहते हैं और कम जोखिम वाले कम रिटर्न से जुड़े रहते है इसीलिए रिस्क मैनेजमेंट अच्छी इन्वेस्टमेंट के लिए काफी जरुरी पैरामीटर बन जाता है क्योकि बाजार में अस्थिरता, क्रेडिट रिस्क, ब्याज दरों और महंगाई से संबंधित जोखिम हो सकते हैं इसीलिए निप्‍पॉन फंड इन सारे जोखिम सिक्योरिटी लेवल के साथ पोर्टफोलियो लेवल पर भी काफी सावधानी से हैंडल करता है क्योकि इससे किसी भी इन्वेस्टर के पैसे डूबने का खतरा काफी कम हो जाता है|

यह भी पढ़े – Business Idea: भारत के हर घर में मिलेगा ये सामान, 12 महीने रहती है इसकी तगड़ी डिमांड, हर रोज़ होगी शानदार कमाई

हमेशा रखे बाजार पर नजर

Investment Tips

ज्‍यादा रिटर्न के पीछे भागने के बजाए एक समझदार इन्वेस्टर को स्थिरता से नियमित रिटर्न पाने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए इसीलिए ये दो कारण काफी जरूरी है जिसमे पहला स्थिर और प्रक्रिया-संचालित तरीके से इन्वेस्टमेंट करनी चाहिए जो लंबे समय में इन्वेस्टर के लिए ज्यादा अच्छा साबित हो सकता है इसीलिए निप्पॉन इंडिया म्यूचल फंड भी इसी तरह काम करता है कि कोई स्‍टॉक कितना अच्‍छा परफॉर्म करता है तो इससे फर्क पड़ने के बजाए उसके ओवरवेट होने पर ज्‍यादा ध्‍यान दिया जाता है|

यह भी पढ़े – Tata ग्रुप की इस कंपनी का है बुरा हाल, शेयर में हो रही है लगातार गिरावट, फिर भी कई इन्वेस्टर्स को मिला तगड़ा रिटर्न 

Disclaimer:- म्यूचल फंड में इन्वेस्टमेंट करने से पहले किसी एक्सपर्ट की सलाह जरूर ले ले क्योंकि म्यूचल फंड बाज़ार के जोखिमों के अधीन है इसीलिए इसमें नुकसान होने की संभावना होती है।

सचिन