इस नस्ल के मुर्गे की कीमत में आ जाएगी Alto कार, पालन कर किसानों की भर रही तिजोरी, जाने खुबिया

By Alok

Published on:

‘Dong Tao’ Chicken: इस नस्ल के मुर्गे की कीमत में आ जाएगी Alto कार, पालन कर किसानों की भर रही तिजोरी, जाने खुबिया, भारत में किसान खेती के साथ- साथ पशुपालन और मुर्गी पालन करके अपनी आमदनी को बढ़ाते है, बहुत से किसान अब अधिक मुनाफा कमाने के लिए अब बड़े स्तर पर मुर्गी पालन कर रहे है.इन समय मुर्गियों की बहुत सी नस्ले है, जिनका पालन कर किसान अच्छा लाभ कमा रहे है। आज हम आपको एक अनोखे नस्ल की मुर्गी के पालन के बारे में बताने जा रहे है ,जिसका पालन कर होगी लाखो में कमाई जाने डिटेल। …

कडकनाथ से भी महंगा है यह मुर्गा

image 184

दोस्तों आपके वहां को दूर करने के लिए आपको बता दे की दुनिया में सबसे महंगा मुर्गा कड़कनाथ नही है, बल्कि ड्रैगन चिकन जिसकी एक मुर्गे की कीमत में 200 कड़नाथ मुर्गे के बराबर होती है. जिनका पालन कर किसान अब रातो रात लखपति बन गए है।

यह भी पढ़े: कम लागत में छप्पर फाड़ मुनाफा देगी यह फसल, मालामाल हो जायेंगे किसान, जानिए खेती का सरल तरीका

ड्रैगन चिकन के नाम से मशहूर है ये मुर्गी की नस्ल

image 185

आज हम बात कर रहे हैं ‘डॉन्ग टाओ’ के बारे में, जिसे ड्रैगन चिकन के नाम से भी जाना जाता है. कहा जाता है कि एक ड्रैगन मुर्गी की कीमत 200 कड़नाथ मुर्गे के बराबर होती है. खास बात यह है कि यह दुनिया के सबसे महंगी मुर्गियों में से एक है. जिनका पालन कर किसान भाई अच्छा मुनाफा कमा रहे है।

दुनिया भर में बढ़ रही है इस मुर्गी की डिमांड

image 186

इस मुर्गी का पालन पहले सिर्फ वियतनाम में ही किया जाता था, लेकिन अब मांग बढ़ने पर पूरी दुनिया में लोगों ने इसका पालन शुरू कर दिया है. हालांकि, भारत में अभी भी मुर्गी पालन व्यवसाय से जुड़े लोग ‘डॉन्ग टाओ’ के बारे में उतनी जानकारी नहीं रखते हैं.हालांकि अभी मार्केट में एक ड्रैगन किचन की कीमत लगभग 163570 रुपये है.

यह भी पढ़े: किसानों के लिए ख़ुशख़बरी! जल्द ही खाते में आएगी 15वीं किस्त, बस करना होगा यह काम

सबसे पहले वियतनाम में किया जाता है इस मुर्गी का पालन

image 187

‘डॉन्ग टाओ’ की कहानी भी अजीबोगरीब और दिलचस्प है. सबसे पहले इसका पालन वियतनाम की राजधानी हनोई में शुरू किया गया था. एक फार्म में इस नस्ल के कुछ मुर्गे पाले गए थे. इस नस्ल के मुर्गे की टांगें सामान्य मुर्गों के मुकाबले मोटी होती हैं. अभी वियतनाम में भी इस मुर्गे की संख्या बहुत कम है. इसलिए वहां के लोग अपने मुख्य त्यौहार लूनर न्यू ईयर पर ही इसे खाते हैं.

एक ड्रेगन चिकन का वजन 10 किलो भी हो सकता है

ड्रेगन चिकन की सबसे बड़ी खासियत है कि इसके मीट में फैट बहुत कम होता है. ऐसे में अगर आप ‘डॉन्ग टाओ’ का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको इसके चूजे वियतनाम से मंगवाने पड़ेंगे. इसके बाद सामान्य मुर्गियों की तरह मुर्गी फार्म में इसका पालन शुरू कर सकते हैं. साथ ही इसका वजन भी काफी अधिक होता है. खास बात यह है कि कड़कनाथ के मुकाबले भी ड्रैगन चिकन का वजन काफी अधिक होता है. यह 10 किलो का भी हो सकता है.

Alok