आईपीएल के नये बादशाह ,शुभम दुबे अतीत छोड़कर अब लेना चाहते परिवार के लिए घर,जानते है संघर्ष की कहानी

By Sakshi

Published on:

शुभम दुबे 27 अगस्त 1994 में महाराष्ट में हुआ था वह एक ऑलराउंडर हैं जो बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और मध्यम गति से दाएं हाथ से गेंदबाजी करते हैं। उन्होंने 2019 एम् डी चशक टूनामेंट में रंगरेज लिए खेलना शुरू किया में था। शुभम दुबे विदर्भ के मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं जिन्हें राजस्थान रॉयल्स ने भारी भरकम कीमत पर खरीदा है।शुभम दुबे के टी20 के आंकड़ों पर गौर करें तो उन्‍होंने अब तक 20 टी20 मैच खेले, दुबई में मंगलवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 की नीलामी में 5.8 करोड़। दुबे ने हाल ही में समाप्त हुई सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में सात पारियों में 190 से कम की स्ट्राइक रेट से 221 रन बनाए।

ये भी पढ़े : Iphone की बैंड बजा देगा Oneplus का धांसू स्मार्टफोन, अमेजिंग कैमरा क्वालिटी के साथ दमदार बैटरी, देखे कीमत

शुभम की रियल लाइफ

shubham dubey 2

शुभम जी का बच्चपन काफ़ी अभावों में बीता है। शुभम दुबे ने बताया की उन के घर के माली हालत ठीक नहीं थी वो बताते है की उनके पास क्रिकेट किट खरीदने तक के पैसे नहीं थे और पापा ने होटल मैनेजर ,रियल स्टेट एजेंट और पंखे स्टॉल पर काम किया है ,उन्हें क्रिकेट टीम में आने के लिए अपनी पैन की शॉप तक बेचनी पड़ी थी की उनका परिवार ही उनकी ताकत रहा है। मेरे माता पिता ने हमेशा हमारा साथ दिया है तो मैं उन के लिए एक घर ख़रीदना चाहता हूँ।

ये भी पढ़े : रहती है इसकी मार्किट में हमेशा डिमांड, किसान इसकी खेती कर कमा सकते है लाखों का मुनाफा, जाने खेती से जुड़ी जानकारिया

क्रिकेट की जानकारी

29 साल के शुभम दुबे की बेस प्राइस 20 लाख रुपये थी।आईपीएल क्रिकेट में बतौर फिनिशर अपनी छाप छोड़ चुके बल्लेबाज शुभम दुबे विदर्भ के लिए खेलते हैं. आईपीएल नीलामी से पहले भी सभी फैन्स को 29 साल के बाएं हाथ बब्ले बाज थे उन सभी टीमों की नज़र थीं, बतौर क़ाबिल खिलाडी के तौर पर शुभम ने बंगाल के खिलाफ एक मैच में 213 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 20 गेंदों पर नाबाद 58 रन जड़े थे।

Sakshi

हेलो में साक्षी यादव,लाइफ में बहुत कुछ किया मगर आज सही राह मिली जर्नलिज्म,में बैतूल समाचार से जुड़ी ,जुड़ने के बाद एक अच्छा एक्सप्रिन्स रहा मेरा और मुझे लाइफस्टाइल पर,पॉलिटिक्स पर ,जॉब अलर्ट पर काम करना अच्छा लगता मेरी सोच है की मेरे द्वारा,लोग तक वो हर जानकारी पहुंच पाए जो वो नहीं जान पाते है। में लोगों की आवाज़ बनू।