International Yoga Day 2024: मानसिक तनाव को कम करें इन योगासनों से, जानिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस विशेष

By charpesuraj4@gmail.com

Published on:

Follow Us

International Yoga Day 2024: मानसिक तनाव को कम करें इन योगासनों से, जानिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस विशेष हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है. इस खास अवसर पर जानिए मन की शांति के लिए कौन सा योग करना चाहिए? लोगों को योग के प्रति जागरूक करने के लिए हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है. इस साल योग दिवस की थीम ‘योग for Myself and Everyone’ है. योग एक प्राचीन कला है जो न सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. योग में विभिन्न आसनों के माध्यम से शारीरिक और मानसिक सुख प्राप्त होता है. आज के समय आधुनिक जीवनशैली की चुनौतियों के बीच मानसिक तनाव और अवसाद की समस्या आम हो गई है. इससे निपटने के लिए योग की मदद ली जा सकती है (कौन सा आसन मानसिक शांति देता है). इस लेख में Noida के योगासोम योग स्टूडियो के योग गुरु रजनेश शर्मा तनाव और अवसाद को दूर करने के लिए योगासनों के बारे में बता रहे हैं, जिनको नियमित अभ्यास करके आप लाभ उठा सकते हैं.

यह भी पढ़े- 21 जून को दोपहर 12 बजे इस जगह पर परछाई हो जाती है गायब, जानिए कहा है वह जगह

मानसिक तनाव और अवसाद के लिए कौन सा योग करें?


सर्वانگासन (Salamba Sarvangasana)
मानसिक तनाव कम करने और अवसाद जैसी गंभीर समस्या को दूर करने के लिए सर्वانگासन का अभ्यास फायदेमंद हो सकता है. सर्वางासन करने से मस्तिष्क में रक्त संचार बढ़ता है, जिससे मानसिक स्पष्टता और एकाग्रता में सुधार होता है. इस आसन को करने से शांति और संतुलन का भाव पैदा होता है, जो तनाव और चिंता को कम करके मानसिक शांति प्रदान करता है. सर्वางासन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले आप पीठ के बल लेट जाएं और फिर हाथों को पीठ के नीचे सहारा देते हुए पैरों को उपर की तरफ उठाएं. पैरों और शरीर के ऊपरी हिस्से को जितना आसानी से हो सके सीधा ऊपर खींचें. कुछ देर इसी स्थिति में रहें और फिर धीरे-धीरे वापस आ जाएं.

बालासन (Balasana)
बालासन का नियमित अभ्यास करने से मन शांत होता है, साथ ही यह आसन तनाव और चिंता को कम करने में सहायक होता है. इस आसन के अभ्यास से रीढ़ की हड्डी और पीठ का खिंचाव होता है, जिससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं. बालासन करने के लिए घुटनों के बल बैठ जाएं और फिर शरीर को आगे की ओर झुकाते हुए हाथों को आगे की तरफ फैलाएं और माथा जमीन पर रख दें. कुछ देर इसी स्थिति में रहें और फिर धीरे-धीरे वापस आ जाएं.

उत्तानासन (Uttanasana)
मानसिक शांति पाने और अवसाद को कम करने के लिए उत्तानासन का अभ्यास करना चाहिए. उत्तानासन के नियमित अभ्यास से मस्तिष्क शांत होता है, जिससे तनाव की समस्या कम हो जाती है. यह आसन मस्तिष्क में रक्त संचार को बढ़ाता है, जिससे मन को ताजगी का एहसास मिलता है और मानसिक शांति मिलती है. उत्तानासन करने के लिए सीधे खड़े हो जाएं और फिर हाथों को उपर की तरफ उठाएं. इसके बाद धीरे-धीरे आगे की ओर झुकें और हाथों को जमीन पर टिकाएं. इस दौरान गहरी सांस लें और छोड़ें.

अधोमुख शवासन (Adho Mukha Svanasana)
अधोमुख शवासन का अभ्यास शरीर और मन को संतुलित करता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस आसन को करने से पूरी बॉडी का स्ट्रेच होता है, जिससे मानसिक संतुलन बढ़ता है. अधोमुख शवासन तनाव और चिंता को कम करने में सहायक होता है