Health Tips: पाइल्स का ये है घरेलु इलाज इन चीजों का उपयोग कर ख़तम हो सकती है पाइल्स की समस्या

0
218
bawasirr

Health Tips: पाइल्स का ये है घरेलु इलाज इन चीजों का उपयोग कर ख़तम हो सकती है पाइल्स की समस्या आजकल के बिजी शेडूल में लोग अपनी हेल्थ हां सही ध्यान नहीं रखते उनके बिजी रहने के कारन वो ना तो टाइम से कहते है और ना ही सोते है परिणाम एसिडिटी कब्ज गैस आदि कई समस्याएं। बवासीर और एनल फिशर के लिए कब्ज को मुख्य कारण माना जाता है।इसका प्रमुख कारण फास्ट फूड का अत्यधिक सेवन, पर्याप्त पानी नहीं पीना, भोजन में कम फाइबर, खराब चयापचय क्रिया , नींद पूरी नहीं होना इसके प्रमुख कारण हैं। कुछ चीजों को खाने में शामिल करके इन समस्याओं से बचा जा सकता है। पाइल्स या बवासीर एक बहुत आम समस्या है जिससे बहुत से लोग पीड़ित रहते हैं। जाहिर है यह गुदा में होने वाला रोग है इसलिए बहुत से लोग इसे छिपाने की कोशिश करते हैं। इसमें गुदा के बाहर या अंदर मस्से बन जाते हैं जिनमें मल त्याग के दौरान दर्द या खून आ सकता है।

क्या होता है एनल फिशर
एनल फिशर गुदा से जुड़ी एक समस्या है। यह समस्या बवासीर का ही एक गंभीर रूप है जिसमें कब्ज या बवासीर की वजह से गुदा में कट या दरार बन जाती है और रोगी को मल त्यागने में कठिनाई होती है।

इन कारणों से हो सकती है कब्ज की समस्या

कब्ज मुख्य रूप से वात दोष के असंतुलन के कारण होता है। इसके बहुत से कारण हो सकते हैं जिसमे पौष्टिक आहार ना खाना ,खाना पेट भर ना खाना , सूखे, ठंडे, मसालेदार, तले और फास्ट फूड का अत्यधिक सेवन, पर्याप्त पानी नहीं पीना, भोजन में कम फाइबर, खराब चयापचय, नींद पूरी नहीं होना, रात को देर से खाना आदि शामिल है

इन चीजों को लाये अपनी डेली रूटीन में नहीं होगी कोई समस्या

रात भर भीगी हुई किशमिश
काली किशमिश फाइबर से भरपूर होती है, जो मल को कठोर होने से बचाती है और चिकना बनाती है। किशमिश को भिगोना जरूरी है क्योंकि सूखे खाद्य पदार्थ आपके वात दोष को बढ़ा देते हैं और गैस्ट्रिक की समस्या पैदा कर सकते हैं। भिगोने से इन्हें पचाना आसान हो जाता है।

kishmish

गाय का दूध
दूध नैचुरल लैक्सेटिव है और बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक लगभग सभी के लिए काम करता है। गर्भवती माताओं के लिए भी है लाभकारी। आपको सोते समय एक गिलास गर्म दूध की जरूरत है। यह ज्यादा पित्त बनने वाले लोगों के लिए सर्वश्रेष्ठ है। अगर सिर्फ दूध काम नहीं करता है, तो 1 चम्मच गाय का घी एक गिलास गर्म गाय के दूध के साथ पुरानी कब्ज वाले लोगों के लिए सबसे अच्छा काम करता है।

cow milk

गाय का घी
गाय का घी आपके चयापचय में सुधार करता है। यह आपको शरीर में स्वस्थ वसा बनाए रखने में मदद करता है जो कि विटामिन ए, डी, ई और के जैसे वसा में घुलनशील विटामिन के अवशोषण के लिए आवश्यक है। आपको भैंस के घी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि यह मोटा होता है और हर किसी को सूट नहीं करता है। जो लोग वजन बढ़ाना चाहते हैं उनके लिए भैंस का घी अच्छा होता है। गाय का घी सभी के लिए उत्तम होता है क्योंकि यह आसानी से पच जाता है। बस 1 चम्मच गाय का घी या तो सोते समय या सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ लेना है।

ghii

आंवला
आंवला एक अद्भुत रेचक है और इसे नियमित रूप से सुबह लेने पर आपको कई स्वास्थ्य समस्याओं से राहत मिल सकती है। आप आंवले का सेवन फल या पाउडर के रूप में भी कर सकते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि यह सभी के लिए बेहतर है (वात-पित्त-कफ)।

aavla

मेथी के बीज
एक चम्मच मेथी के बीज रात भर भिगोकर रख दें और सुबह सबसे पहले खाएं। आप सोते समय गर्म पानी के साथ एक चम्मच मेथी पाउडर भी ले सकते हैं। यह अधिक वात और कफ वाले लोगों के लिए बढ़िया है। उच्च पित्त वाले लोगों को इससे बचना चाहिए।