Gulab ki kheti: गुलाब के फूल की हमेशा रहती है मार्केट में डिमांड इसकी खेती कर कमा सकते हो तगड़ा मुनाफा, जाने पूरी जानकारी…

By Alok Gaykwad

Published on:

Follow Us

Gulab ki kheti: गुलाब के फूल की हमेशा रहती है मार्केट में डिमांड इसकी खेती कर कमा सकते हो तगड़ा मुनाफा, जाने पूरी जानकारी, गुलाब का फूल तो आपने ज़रूर देखा होगा. शायद आपके घर में भी ये खूबसूरत फूल लगा हो. गुलाब की कई किस्में होती हैं, जिनमें से एक है रोजा पेंडुलिना

यह भी पढ़े : – Weather update: उत्तर प्रदेश और बिहार में जल्द दस्तक देगा मानसून, मिलेगी गर्मी से राहत…

गुलाब के फायदे

  • औषधीय गुण (Aushadhiya Gun): गुलाब का इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज में किया जाता है, जैसे सूजन, मधुमेह, मासिक धर्म की तकलीफ, डिप्रेशन, तनाव, मिर्गी और बुढ़ापे के असर को कम करना.
  • सुंदरता बढ़ाए (Sundarta Badhaye): गुलाब जल त्वचा की देखभाल के लिए बेहद फायदेमंद होता है. इसके एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा के लिए बहुत अच्छे होते हैं.
  • सौंदर्य प्रसाधन (Saundarya Prasadhan): गुलाब के फूल सिर्फ खूबसूरत ही नहीं बल्कि बेहद उपयोगी भी होते हैं. गुलाब जल, गुलाब की पत्तियों का पाउडर, फेस पैक और कई दवाइयां गुलाब के फूलों से ही बनाई जाती हैं.
  • रूप निखार (Roop Nikhar): गुलाब जल लगाने से त्वचा निखरती है ये तो लगभग सभी जानते हैं, लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि गुलाब की पत्तियाँ खाने से भी त्वचा की खूबसूरती बढ़ती है.

यह भी पढ़े : – Desi jugaad: भारतीय शख्स के ये अजब गजब जुगाड़ देख हिल जाएगा आपका भी दिमाग, देखे अद्बुद्ध वायरल जुगाड़…

गुलाब की खेती

गुलाब की खेती करना मुश्किल नहीं है. इसकी खेती किसी भी तरह की मिट्टी में की जा सकती है, लेकिन अच्छे जल निकास वाली दोमट मिट्टी गुलाब के पौधों को तेजी से बढ़ने में मदद करती है. गुलाब के पौधे लगाते समय इस बात का ध्यान रखें कि उन्हें ऐसी जगह पर लगाया जाए जहां अच्छी धूप आती हो. गुलाब के फूल आने में कम से कम 8 से 9 महीने का समय लगता है.

गुलाब की खेती से मुनाफा

बाजार में गुलाब की मांग हमेशा रहती है. गुलाब का इस्तेमाल सिर्फ फूलों के रूप में ही नहीं बल्कि कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स बनाने में भी किया जाता है. इसलिए गुलाब की खेती से अच्छी कमाई हो सकती है. एक या दो एकड़ में भी गुलाब की खेती करके आप कई महीनों तक कम से कम 2 लाख रुपये का मुनाफा कमा सकते हैं.