Ganga Dussehra: इस दिन है गंगा दशहरा, कैसे करें गंगा दशहरा की पूजा जानिए

By charpesuraj4@gmail.com

Published on:

Follow Us

Ganga Dussehra: हिंदू धर्म में गंगा दशहरा का बहुत महत्व है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन गंगा स्नान करने से व्यक्ति को सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है. इतना ही नहीं, इस दिन गंगा स्नान करने से पितरों का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है.

यह भी पढ़े- Chanakya Niti: गुप्त रखें ये 3 राज, सफल होगा जीवन, पुरुषों को किन बातों को गुप्त रखना चाहिए, जानिए

कब मनाया जाता है गंगा दशहरा?

इस वर्ष गंगा दशहरा 16 जून को मनाया जाएगा. ज्योतिषाचार्य पं. सौरभ कुमार मिश्रा के अनुसार, गंगा दशहरा का पर्व ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है. इस दिन गंगा स्नान करने और पूजा-अर्चना करने का विशेष महत्व होता है.

कैसे करें गंगा दशहरा की पूजा?

  • गंगा स्नान करना सर्वोत्तम माना जाता है. अगर आप गंगा स्नान के लिए नहीं जा पा रहे हैं तो घर पर गंगाजल मिलाकर स्नान करें और मां गंगा का ध्यान करें.
  • घर के मंदिर में दीप जलाएं.
  • इस दिन जितना हो सके मां गंगा का ध्यान करें.
  • दान करने से शुभ फल प्राप्त होते हैं.
  • घर में रहते हुए भी मां गंगा की आरती करें.

गंगा दशहरा का महत्व

  • इस पवित्र दिन मां गंगा की पूजा करने से सभी तरह के कष्टों से मुक्ति मिलती है.
  • मां गंगा की उपासना करने से शुभ फल प्राप्त होते हैं.

मां गंगा की आरती

Om Jai Ganga Mata, Shri Ganga Mata.

Jo tera dhyan kare, Manvanti fal paye.

Om Jai Ganga Mata…

Chandrama ke mamta se, Pavitra kare pani.

Jo tera sharan ho jaye, woh tar leta paar.

Om Jai Ganga Mata…

Sagar putra ke tare, Sab jag mein tum jano.

Kripa drishti karo, tin lok mein sukh deno.

Om Jai Ganga Mata…

Jo aaye tera sharan ek baar.

Yam ka dar kat kar, le jate sachchi mukti paar.

Om Jai Ganga Mata…

Jo karat hain nitya tere aarti.

Vahin bhakta hai jo pāve mukti sahज।

Om Jai Ganga Mata…

Om Jai Ganga Mata…

मां गंगा का मंत्र

Om Namo Gangayai Vishvarupinyai Narayanyai Namo Namah

गंगा दशहरा के पर्व पर आप गंगा स्नान करें, पूजा-अर्चना करें और मां गंगा की आरती गाकर उनका आशीर्वाद प्राप्त करें.