Fifth Generation Of Network: 5G नेटवर्क आने पर होगी आपकी ये परेशानी दूर छोड़िये 4G की झंझट

0
163
5g

Fifth Generation Of Network: 5G नेटवर्क आने पर होगी आपकी ये परेशानी दूर छोड़िये 4G की झंझटभारत दिन प्रतिदिन तकनीक के क्षेत्र में आगे ही बढ़ता जा रहा है भारत मे कुछ ही दिनों में 5G तकनीक लांच होने वाली है. इसे लेकर कंपनियों समेत ग्राहकों में भी काफी एक्साइटमेंट देखने को मिल रही है. कंपनीयो से ज्यादा लोगो में बहुत उत्साहित है कई कंपनियों ने तो 5G फ़ोन्स लांच भी कर दिए है बता दें कि 5G तकनीक आने से पहले ही भारत की ज्यादातर स्मार्टफोन कंपनियों ने अपने 4G स्मार्टफोंस को 5G स्मार्टफोंस से रिप्लेस कर दिया है हालांकि इसके बावजूद भी लोग अभी तक 4जी स्मार्टफोन चला रहे हैं. जब तक 5G तकनीक लॉन्च नहीं होती तब तक तो आप 4G स्मार्टफोंस का इस्तेमाल कर सकते हैं और इसमें किसी तरह की समस्या नहीं आएगी लेकिन आप अगर 5G तकनीक लॉन्च होने के बाद भी 4G स्मार्टफोन चलाएंगे तो आपको कुछ नुकसान हो सकते हैं. अगर आपको लग रहा है कि आपको सभी 5G बेनिफिट्स मिलेंगे तो ऐसा नहीं है क्योंकि 5G स्मार्टफोंस कई मामलों में 4G स्मार्टफोन से बेहतर है.

mobile phones

5G तकनीक से भारत के प्रौद्योगिकी क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत होने की उम्मीद है। जहाँ तक प्रौद्योगिकी के राष्ट्रव्यापी परिनियोजन का संबंध है, भारत को अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है। जिसमें की स्पेक्ट्रम की कीमतों को कम करना और ग्रामीण-शहरी इलाके में तकनीक के अंतर को कम करना, नेटवर्क की पहुँच को देश के हर घर तक बढ़ाना, कुछ ऐसे लक्ष्य हैं जिन पर सरकार का ध्यान केंद्रित है।

1G से लेकर 5G तक

1G नेटवर्क 1980 के दशक में लॉन्च किया गया था और यह एनालॉग रेडियो सिग्नल पर काम करता था और केवल वॉयस कॉल को सपोर्ट करता था। – 2G नेटवर्क 1990 के दशक में लॉन्च किया गया था जो कि डिजिटल रेडियो सिग्नल का उपयोग करता है और 64 Kbps की बैंडविड्थ के साथ वॉयस और डेटा ट्रांसमिशन दोनों को सपोर्ट करता है। – 3G नेटवर्क 2000 के दशक में 1 Mbps – 2 Mbps की गति के साथ लॉन्च किया गया था जो कि डिजीटल वॉयस, वीडियो कॉल और कॉन्फ्रेंसिंग सहित टेलीफोन सिग्नल प्रसारित करता है। – 4G नेटवर्क 2009 में 100 Mbps – 1 Gbps की पीक स्पीड के साथ लॉन्च किया गया था और यह 3डी वर्चुअल रियलिटी को भी सक्षम बनाता है। – 5G नेटवर्क में बिजली की रफ्तार से डेटा ट्रांसफर होगा। जिसमें की यूजर्स 3 घंटे की HD फिल्म को 1 सेकंड से भी कम समय में डाउनलोड कर सकेंगे

5g usses

5G आने पर ये सुविधाएं मिल सकती है

  • मोबाइल टावर दूर होने के बावजूद भी 5G नेटवर्क होने से इंटरनेट चलाने में कोई परेसानी नहीं होगी।
  • मोबाइल की बैटरी भी कम खपत होगी।
  • इसके अलावा इस नेटवर्क से आप कई डिवाइस को एक साथ भी जोड़ पाने में सक्षम हो पाएंगे।
  • 5G में नई पीढ़ी के मोबाइल नेटवर्क को भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए व्यापक लाभ प्रदान करने की परिवर्तनकारी क्षमता है, जो कृत्रिम बुद्धिमत्ता के साथ संयुक्त होने पर एक कनेक्टेड और स्वायत्त प्रणाली को एक नया चेहरा प्रदान करती है।
  • ये नेटवर्क मोबाइल बैंकिंग और स्वास्थ्य जैसी सेवाओं की पहुंच में सुधार कर सकता है,
  • बेरोजगार या अल्प-रोजगार वाले लोगों के लिए पूर्ण और उत्पादक कार्यों में संलग्न होने के अवसरों में तेजी से वृद्धि को सक्षम कर सकता है।
  • 5G भारतीय नीति निर्माता नागरिकों और व्यवसायों को शिक्षित और सशक्त बना सकता है, और मौजूदा शहरों को स्मार्ट शहरों में बदल सकता है।

कॉल ड्रॉप की समस्या
4G G स्मार्टफोंस के साथ एक समस्या जो बेहद कॉमन समस्या है वह है कॉल ड्रॉप. कॉल ड्रॉप की समस्या किसी भी यूजर को काफी ज्यादा परेशान कर सकती है और इससे आपका काफी समय भी बर्बाद होता है. 5G तकनीक आने के बाद ऐसी समस्या से आपको छुटकारा मिल जाएगा क्योंकि 5जी तकनीक काफी हाईटेक है और इसमें नेटवर्क की क्वालिटी भी काफी जबरदस्त है जिस वजह से आपको इसमें कॉल ड्रॉप की समस्या से छुटकारा मिल सकता है.

आपको बहुत ही हाई स्पीड इंटरनेट सेवा मिलेगी
4जी स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले यूजर इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि उन्हें कई बार स्लो इंटरनेट स्पीड मिलती है. दरअसल जब स्मार्टफोन अपडेट होते हैं तो उनमें आने वाली दिक्कतों को भी ठीक कर दिया जाता है और आप अगर 4G स्मार्टफोन चलाएंगे तो आपको स्लो इंटरनेट स्पीड का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि 5G तकनीक सिर्फ 5G स्मार्टफोंस के साथ ही कंपैटिबल है ऐसे में 4G स्मार्टफोन में आपको उस लेवल का एक्सपीरियंस नहीं मिल पाएगा और इंटरनेट का मजा किरकिरा हो सकता है.