Thursday, February 2, 2023
Homeप्रदेशफसलों का सही दाम ना मिलने पर किसानों में आक्रोश, लहसुन से...

फसलों का सही दाम ना मिलने पर किसानों में आक्रोश, लहसुन से भरी बोरियां बहाई नदी में, देखें वीडियों……..

फसलों का सही दाम ना मिलने पर किसानों में आक्रोश, लहसुन से भरी बोरियां बहाई नदी में, देखें वीडियों…….. मध्यप्रदेश के नीमच जिले का यह मामला है जहा पर किसानो ने लहसुन से भरी बोरियों को बहते नाले में बहा रहा है। नीमच मंदसौर जिले में बड़े पैमाने पर लहसुन की खेती की जाती है, लेकिन नीमच जिले के गांव चोकानखेड़ा के किसान सही कीमत नहीं मिलने पर नाराज हैं। और गुस्से में आकर किसान यह कदम उठा रहे है। एक वीडियो में किसान गुस्से में कई बोरी लहसुन को बहते नाले में बहा दिया. स्थानीय लोगों का कहना है कि सही कीमत नहीं मिलने पर किसानों के अंदर काफी रोस है।

फसलों का सही दाम ना मिलने पर किसानों में आक्रोश, लहसुन से भरी बोरियां बहाई नदी में, देखें वीडियों……..

यह भी पढ़े: मूंगफली से ये लोग दूर रहे वर्ना हो सकता है भारी नुकसान, ज्यादा मूंगफली खाना पढ़ सकता है भारी……..

फसल का सही दाम ना मिलने पर है परेशान किसान

07 10 2022 garlik 23124069

जब किसान से पूछा गया ऐसा करने का कारण तो चला की किसान दिनेश अहीर ने लगभग एक बीघे से उत्पादन की हुई 40 बोरी लहसुन को नाले में बहा दिया. जैसा कि आप वीडियो में देख सकते हैं कि किसान बोरी से नाले में लहसुन गिरा रहा है, जबकि सामने खड़ा शख्स उसका वीडियो बना रहा है। वहीं, वीडियो वायरल होने के बाद किसान ने बताया कि उसने लगभग 1 बीघा में लहसुन की खेती की थी और इसके लिए जो लागत उस समय उसने खर्च की थीं. वह लागत भी उसे नहीं मिल पा रही है। हालात ऐसे हैं कि किसान को मंडी में ले जाकर लहसुन बेचने के लिए लगने वाला भाड़ा भी महंगा पड़ रहा है। जिसके वजह से किसान परेशान होकर ऐसा कर रहे है।

यहाँ देखे वीडियों –

dolon

फसलों का सही दाम ना मिलने पर किसानों में आक्रोश, लहसुन से भरी बोरियां बहाई नदी में, देखें वीडियों……..

यह भी पढ़े: चाणक्य निति के अनुसार युवा पीढ़ी को नहीं करनी चाहिए ये गलतिया वर्ना हो जायेगा जीवन बर्बाद…..

किसान को उसकी लागत भी नहीं मिल पा रही

1130759 lahsunprice

किसान ने परेशान होकर गुस्से में अपनी सारी लहसुन को पास के नाले में बहा दिया. एक और जहां सरकार किसानों की आय दोगुना करने की बात कह रही है। वहीं दूसरी ओर हालत इसके उलट है. खेती के लिए किसान अभी भी परेशान हैं. किसानों को फसलों का लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है। नीमच के किसान सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि उन्हें कम से कम लागत मूल्य मिल जाए. जिससे की उन्होने जितना पैसा उस फसल में लगाया है उतना तो निकल पाए.

RELATED ARTICLES

Most Popular