PM Kusum Yojana: पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत किसानो को मिलेंगा सौर पंप लगाने का मौका, मिलेंगी 60 प्रतिशत तक सब्सिडी

By charpesuraj5@gmail.com

Published on:

Follow Us

PM Kusum Yojana: पीएम कुसुम योजना के दूसरे चरण के तहत वर्ष 2023 में लगभग 50 हजार किसानों को सौर पंप लगाने के लिए सब्सिडी मिलनी थी. लेकिन, प्राथमिकता सूची जारी होने के बाद तय समय सीमा के अंदर दस्तावेज सत्यापन और फर्म चयन नहीं कराने के कारण 10 हजार से अधिक किसानों की पात्रता रद्द कर दी गई थी.

यह भी पढ़े- Murgi Palan Subsidy: सरकारी सब्सिडी के साथ शुरू करें अपना मुर्गी पालन का बिजनेस, 9 लाख रुपये तक की मिलेंगी आर्थिक मदद

लेकिन अब इन किसानों के लिए खुशखबरी है! पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत प्राथमिकता सूची में शामिल होकर भी सौर पंप से वंचित रह गए राज्य के 10 हजार किसानों को अब राहत मिलने वाली है. बागवानी विभाग ने सात महीने पहले प्राथमिकता सूची में रद्द किए गए आवेदनों को फिर से चालू कर दिया है.

यानी, जिन किसानों का नाम प्राथमिकता सूची में 2023 में आया था, लेकिन उनकी दस्तावेज ऑनलाइन सत्यापित नहीं कराने और सूची में नाम आने के बाद तय समय पर फर्म का चयन नहीं करने के कारण आवेदन रद्द कर दिए गए थे, उन्हें अब फिर से आवेदन करने का मौका मिल गया है. ऐसे किसानों की संख्या राज्य में अभी 10 हजार है, जिनमें से 500 सिर्फ सीकर जिले में हैं. ये किसान 20 जून तक जरूरी दस्तावेजों का ऑनलाइन सत्यापन और फर्म का चयन करके सब्सिडी पर सौर पंप लगवा सकते हैं.

सब्सिडी का लाभ

इस योजना के तहत खेत में सिंचाई के लिए सौर पंप लगाने वाले किसानों को 3 से 10 एचपी के पंपों पर सब्सिडी मिलनी थी. सब्सिडी राशि बागवानी विभाग द्वारा तय यूनिट कॉस्ट का 60 प्रतिशत था. इसके साथ ही, अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के किसानों को राज्य सरकार की तरफ से 45 हजार रुपये के साथ 60 प्रतिशत सब्सिडी मिलनी थी. किसानों को 3, 5 और 7.5 एचपी के सौर पंपों पर सब्सिडी दी जाएगी. खास बात यह है कि योजना के तहत किसान संबंधित विनिर्माण फर्म से 10 एचपी तक के पंप लगवा सकेंगे. 7.5 एचपी पंप के दिशा-निर्देशों के अनुसार 10 एचपी पंप लगाने वाले किसानों को भी सब्सिडी राशि दी जाएगी. 10 एचपी पंप के लिए खर्च की गई शेष राशि का वहन किसान को स्वयं करना होगा. योजना के तहत 3 एचपी पंप के लिए सब्सिडी राशि 114314 रुपये, 5 एचपी पंप के लिए 176100 रुपये और 7.5 एचपी पंप के लिए 278684 रुपये है. शेष राशि का वहन किसान को स्वयं करना होगा.