Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य के अनुसार महिलाओं के वो गुण, जो उन्हें बनाते हैं खास, जानिए

By charpesuraj5@gmail.com

Published on:

Follow Us

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य एक महान विचारक थे, जिन्होंने सैकड़ों साल पहले लिखे गए अपने नीति शास्त्र में पुरुषों और महिलाओं के गुणों और अवगुणों के बारे में विस्तार से बताया है. उनकी बातें आज भी उतनी ही सार्थक हैं, जितनी पहले थीं. चाणक्य नीति के अनुसार, महिलाओं में कुछ ऐसे गुण होते हैं, जिनमें पुरुष उनकी बराबरी भी नहीं कर सकते. आइए जानते हैं वो कौन से खास गुण हैं महिलाओं में.

यह भी पढ़े- Vastu Tips: सुख-समृद्धि के लिए वास्तु शास्त्र में स्नानघर और शौचालय से जुड़ा है या नियम, जानिए

  • बुद्धि और विवेक में आगे: आचार्य चाणक्य कहते हैं कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक बुद्धिमान और विवेकपूर्ण होती हैं. वे अपनी सूझबूझ से सबसे गंभीर परिस्थिति को भी संभालने का साहस रखती हैं. खुद को परिस्थिति के अनुसार ढालने की उनमें अद्भुत क्षमता होती है. उम्र बढ़ने के साथ उनका ज्ञान और भी परिपक्व होता जाता है.
  • भावनात्मक रूप से मजबूत: चाणक्य कहते हैं कि महिलाओं में पुरुषों की तुलना तुलना में ज्यादा स्नेह होता है, जिसके कारण वे भावनात्मक रूप से अधिक मजबूत होती हैं. यह उनकी कमजोरी नहीं बल्कि उनकी आंतरिक शक्ति है, जिसके सहारे वे हर परिस्थिति में अपना अस्तित्व बनाए रखती हैं.
  • शारीरिक जरूरतें: आचार्य चाणक्य कहते हैं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं को थोड़ी ज्यादा भूख लगती है. असल में, इसकी वजह उनकी शारीरिक संरचना है, जिसके लिए उन्हें स्वस्थ रहने के लिए ज्यादा कैलोरी की आवश्यकता होती है. यही कारण है कि महिलाओं को संपूर्ण और पौष्टिक भोजन करने की सलाह दी जाती है.
  • जरूरी बात:* हालांकि आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में पुरुषों और महिलाओं के गुणों को बताया है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि ये गुण हर किसी पर लागू हों. हर व्यक्ति, चाहे पुरुष हो या महिला, अपने आप में खास होता है.